सत्र में कुल 2 दिन शेष, संसद में आज भी हंगामे के आसार

नई दिल्ली (15 दिसंबर): संसद के शीतकालीन सत्र को खत्म होने में अब महज दो दिन बचे हैं। 16 नवंबर से शुरु हुआ संसद का मौजूदा शीतकालीन सत्र कल यानी 16 दिसंबर को खत्म हो रहा है लेकिन नोटबंदी के पीएम मोदी के विरोध की वजह से एक दिन भी सदन की कार्रवाही ठीक से नहीं चल सका है।

प्रधानमंत्री मोदी के नोटबंदी के बंदी के फैसले के खिलाफ पूरा विपक्ष एक जूट है और सड़क से लेकर संसद तक इस फैसले का विरोध कर रहा है। सदन के दोनों सदनों में 16 नवंबर से ही हंगामा जारी है और इस हंगामे की वजह से सदन की कार्रवाही एक दिन भी ठीक नहीं चल सका है।

नोटबंदी के मुद्दे पर आज भी संसद में घामासान के आसार हैं। कांग्रेस और बीजेपी ने अपने-अपने सांसदों को व्हिप जारी कर दोनों सदनों में मौजूद रहने को कहा है। संसद का सत्र शुरू होने के बाद से ही विपक्ष मांग कर रहा है कि पीएम मोदी नोटबंदी को लेकर संसद में बयान दें। 

संसद का शीतकालीन सत्र 16 नवंबर को शुरू हुआ था। इसके बाद से नोटबंदी के मुद्दे पर लगातार गतिरोध जारी है। ऐसे में सरकार के सामने लंबित पड़े कई बिलों को पास कराने की चुनौती है।