नोटबंदी: पनवाड़ी ने बैंक में जमा कराए 1.10 करोड़, बोला- पान-जर्दा बेचा

बीकानेर (1 जनवरी): नोटबंदी के बीच काले धन को सफेद करने में लगे लोगों ने हर हड़कंथा अपनाया। ऐसी ही एक खबर बीकानेर से आ रही है, जहां पर एक पान वाले ने 1.10 करोड़ रुपये बैंक में जमा कराए। इस पनवाड़ी ने बताया कि उसने इस बीच इतने रुपये का पान-जर्दा ही लोगों को खिला दिया।

वित्त मंत्रालय की फाइनेंशियल इन्वेस्टिगेशन यूनिट (एफआईयू) ने निर्देश पर पनवाड़ी के यहां छापा मारा तो उसने 1.10 करोड़ सरेंडर कर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 50 लाख का टैक्स दे दिया और 25 प्रतिशत पैसा 4 साल के लिए फ्रीज भी करवा दिया।

आयकर विभाग के जोधपुर कमिश्नरेट एरिया जिसमें जोधपुर के साथ बीकानेर व अजमेर संभाग का भी हिस्सा है, वहां के 150 लोग रॉडार पर हैं। इन्होंने नोटबंदी के बाद 5 लाख से 1 करोड़ तक के पुराने नोट डिपोजिट किए हैं। इनमें 15 केस ऐसे भी हैं, जिनके खाते बरसों से बंद थे और हाल ही दुबारा एक्टिव हुए और इनमें लाखों जमा कराए गए।

एफआईयू के निर्देश पर सभी को नोटिस जारी हो चुके हैं। जवाब लेकर छानबीन की जा रही है। आयकर आयुक्त एसके सिंह ने बताया कि 17 दिसंबर से शुरू हुई पीएम गरीब कल्याण योजना 31 मार्च तक चलेगी। यह अघोषित आय बताने का आखिरी मौका है। इसके बाद विभाग आयकर की धारा 115 बीबीई में कार्रवाई करेगा।