हाउसिंग सेक्टर पर नोटबंदी की मार, 40 फीसदी तक गिरी सेल्स

नई दिल्ली (12 फरवरी): भले की मोदी सरकार नोटबंदी के बड़े-बड़े फायदे गिना रही हो, लेकिन फिलहाल इसकी हाउसिंग सक्टर पर बड़ी माप पड़ती दिख रही है। एक आकड़े के मुताबिक नोटबंदी के बाद नवंबर-दिसंबर के दौरान देश के नौ प्रमुख शहरों में हाउसिंग सेक्टर में 40 फीसदीतक सेल्स में गिरावट दर्ज की गई है।

सर्वे की माने तो लोगों ने रीयल एस्टेट के दाम गिरने की उम्मीद में लोगों ने फिलहाल घर खरीदने का इरादा बदल दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक नोटबंदी से पहले जुलाई-अक्टूबर के दौरान रिहायशी घरों की सेल्स और लॉन्च क्रमशः 19,000 और 18,000 यूनिट थी जो नोटबंदी के बाद तेजी से गिर गई।

हाउजिंग सेल अक्टूबर-दिसंबर में केवल 43, 512 यूनिट बिकीं जो पिछले साल की इसी तिमाही में 54,721 यूनिट बिकीं थीं। यहां स्पष्टतौर पर सेल्स में 20 पर्सेंट की गिरावट देखने को मिली। वहीं, गुड़गांव, नोएडा और अहमदाबाद जैसे शहरों में तीसरी तिमाही में पिछले साल की तुलना में हाउजिंग सेक्टर में 30 से 40 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि इस दौर में ग्राहकों का रवैया नकारात्मक रहा और वह मुख्य रूप से कीमतों के गिरने की उम्मीद कर थे। वहीं, डिवेलपर्स ने इस समय में अपनी सेल बढ़ाने के लिए ग्राहकों को काफी मुफ्त सुविधाएं और गिफ्ट जैसे जूलरी, इलेक्ट्रॉनिक सामान, गाड़ियां और हॉलिडे पैकेज ऑफर कर रहे थे।