नोटबंदी: जांच के दायरे में 2 लाख से ज्यादा कंपनियां

नई दिल्ली(6 अक्टूबर): कालेधन को सफेद बनाने की कोशिश में बड़ा खुलासा हुआ है। 13 बैंकों ने कुछ संदिग्ध लेन-देन की जानकारी केंद्र सरकार को दी है। फर्जी कंपनियों के जरिए कालेधन को सफेद बनाने की कोशिश होती थी, जिसके बाद 2 लाख से ज्यादा कंपनियों पर रोक लगा दी है। बैंकों की ओर से 5800 फर्जी कंपनियों की लेन-देन की डिटेल्स जारी की गई हैं। ये कंपनियां मनी लॉन्ड्रिंग और कालेधन को सफेद करने की गतिविधियों में शामिल थी। 

- खुलासे में पता लगा है कि कई कंपनियों के 100-100 खाते थे। कुल 2,09,032 कंपनियों पर संदिग्ध गतिविधि की जानकारी के बाद रोक लगा दी गई है। 

- इनमें से एक कंपनी के लगभग 2134 खाते थे। नोटबंदी के बाद इन फर्जी कंपनियों ने करीब 4573.87 करोड़ रुपए की लेन-देन की थी।