नोटबंदी के बाद पहली परीक्षा में पास हुई बीजेपी, यहां जीते चुनाव

नई दिल्ली (22 नवंबर): नोटबंदी के बाद देश के छह राज्यों पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, असम, अरुणाचल प्रदेश व त्रिपुरा और केंद्र शासित प्रदेश पुदुचेरी में 4 लोकसभा सीटों और विधानसभा की 9 सीटों के लिए चुनाव हुए थे। हालांकि सभी नतीजे लगभग आ चुके हैं। लेकिन इस नतीजों पर नोटबंदी का कोई खास असर देखने को नहीं मिला।

मध्य प्रदेश के नेपानगर विधानसभा सीट से कांग्रेस को पछाड़ बीजेपी उम्मीदवार मंजू दादू ने 43000 वोटों से जीत हासिल की जबकि शहडोल लोकसभा सीट पर बीजेपी उम्मीदवार ज्ञान सिंह ने जीत हासिल की है। इसके साथ ही अरुणाचल प्रदेश में हयुलिंग सीट से बीजेपी की उम्मीदवार दसांगलू पुल ने 1004 वोटों से जीत हासिल की है। दसांगलू पुल अरुणाचल प्रदेश के पूर्व सीएम कलिखो पुल की पत्नी हैं, जिन्होंने इस साल खुदकुशी कर ली थी।

नतीजे: त्रिपुरा: बरजाला और खोवाई सीट पर सीपीआईएम की जीत।

पुडुचेरी: कांग्रेस ने जीती नेल्लीथोपु विधानसभा सीट सीएम वी. नारायणसामी ने AIADMK के उम्मीदवार को 11,144 वोटों से हराया।

पश्चिम बंगाल: तमलुक विधानसभा सीट से टीएमसी के दिब्येंदू अधिकारी जीत गए हैं। उन्होंने सीपीआई(एम) के मंदिरा पांडा को 4.97 लाख वोटों से हराया है।

तमिलनाडु: तंजावुर सीट से AIADMK के रंगासामी ने जीत दर्ज कर ली है।

रुझान: पश्चिम बंगाल: कूचबिहार और तमलुक लोकसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस ने बढ़त बनाई हुई है।

असम: लखीमपुर लोकसभा सीट से बीजेपी ने बढ़त बना रखी है।

तमिलनाडु: विधानसभा सीटों तिरुप्पराकुंद्रम और अर्वाकुरुचि में AIADMK आगे चल रही है।

दरअसल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार के नोटबंदी के निर्णय के बाद हो रहे इस उपचुनाव को अहम माना जा रहा है और इसे नोटबंदी के बाद सत्तारूढ़ बीजेपी के लिए लिटमस टेस्ट के रूप में देखा जा रहा है।