नोटबंदी से डिजिटल लेनदेन में 80 फीसदी का इजाफा

नई दिल्ली(4 नवंबर): वर्ष 2017-18 में डिजिटल लेनदेन में 80 फीसदी का इजाफा हो सकता है। यह रकम कुल मिलाकर 1800 करोड़ रुपये तक पहुंचने की उम्मीद है। 

- इस साल अक्टूबर तक डिजिटल ट्रांजेक्शन की कीमत 1000 करोड़ से ज्यादा पहुंच चुकी थी। यह वित्तीय वर्ष 2016-17 में हुए कुल डिजिटल ट्रांजेक्शन के लगभग बराबर है। 

- सूचना मंत्रालय के अनुसार जून, जुलाई और अगस्त के महीनों में 136-138 करोड़ रुपये का डिजिटल लेनदेन हुआ। 

- यह रिपोर्ट ससंद की फाइनैंस स्टैंडिंग कमिटी के सामने रखी गई है। इस रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नोटबंदी की घोषणा किए जाने के बाद से ही रोजमर्रा के कामकाजों डिजिटल पेमंट का चलन बढ़ रहा है फिर चाहे वह यूपीआई-भीम हो, आईएमपीएस एम-वॉलेट या डेबिट कार्ड, लोग अब पहले से अधिक डिजिटल पेमंट का इस्तेमाल कर रहे हैं। 

- जनधन- आधार-मोबाइल की तिकड़ी स्थापित करने में भी काफी प्रगति देखी गई है। देश में 118 करोड़ मोबाइल, करीब इतने ही आधार नंबर और 31 करोड़ जनधन खाते होने की बात इस रिपोर्ट में कही गई है।