सिर्फ 75 हजार करोड़ पुराने नोट नहीं हुए जमा

नई दिल्ली (9 जनवरी): नोटबंदी के बाद करीब 14 लाख करोड़ रुपये के पुराने 500 और 1000 के नोट बैंकिंग सिस्टम में वापस आ गए। एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, सिर्फ 75000 करोड़ के नहीं लौटें।

जब बड़े नोटों को बंद करने का फैसला लिया गया था, तब सरकार ने अनुमान जताया था कि बाजार में मौजूद कुल करंसी का 20 प्रतिशत हिस्सा यानी करीब 3 लाख करोड़ रुपये वापस नहीं लौटेंगे।

- नोटबंदी की घोषणा के समय 50 हजार करोड़ रुपये के पुराने नोट बैंकों के पास मौजूद थे।

- 8 नवंबर को देश में कुल 17.50 लाख करोड़ नोट थे, इसमें 500 और 1000 के नोटों की संख्या 15.50 लाख करोड़ थी, जो कुल करंसी का 88 प्रतिशत थी।

- फिलहाल बैंकों के पास 500 और 1000 रुपये के करीब 14.50 लाख करोड़ रुपये हैं।

- आरबीआई ने इन नोटों की काउंटिंग भी शुरू कर दी है ताकि नकली करंसी का पता लगाया जा सके।

- आरबीआई के पास 60 बड़ी मशीनें हैं जो वापस आई करंसी में असली और नकली का फर्क बता सकती हैं।

- अगर यह 60 मशीनें 12 घंटें भी काम करें तब भी इस काम में 600 दिनों का वक्त लग जाएगा।

- सरकार इस प्रक्रिया का विकेंद्रीकरण करने पर भी विचार कर रही है। इसमें बैंकों को भी शामिल करने पर सोचा जा रहा है ताकि काम जल्दी खत्म हो जाए।