जाटों की आरक्षण को लेकर मांग, दस जिले प्रभावित

नई दिल्‍ली (18 फरवरी): हरियाणा में जाट ओबीसी कोटे में आरक्षण की मांग को लेकर पिछले पांच दिन से आंदोलन कर रहे हैं। नेशनल हाइवे जाम कर दिया है, जिसकी वजह से दस जिले प्रभावित हुए हैं। जाटों और जाम लगाने का विरोध करने वालों के बीच संघर्ष हो गया। दस से ज्यादा बाइक प्रदर्शनकारियों ने फूंक दी।

उधर हरियाणा की खट्टर सरकार ने जाट आंदोलन से सख्ती से निपटने के लिये कल चंडीगढ़ में सर्वदलीय बैठक बुलाई है। कई जिलों में धारा 144 लगा दी गई है। जाटों को सड़कों, हाइवे और रेल ट्रैकों से हटाने के लिये रिजर्व पुलिस की तीन बटालियन, दंगा-निरोधक दस्तों के साथ रोहतक, झज्जर, सोनीपत और भिवानी जैसे जाट बहुल इलाकों में भेजा गया है।

आपको बता दें, जाटों को आरक्षण देना सरकार के लिये आसान नहीं है। क्योंकि इसके लिये सुप्रीम कोर्ट जाकर कोई कानूनी रास्ता सरकार को निकालना पड़ेगा। जाट कह रहे है कि अगर पहले ही सुप्रीम कोर्ट में सरकार हमारा पक्ष अच्छे से रखती तो आरक्षण सुप्रीम कोर्ट रद्द ही नहीं करती।