दिल्ली-एनसीआर में एयर क्वालिटी 'खतरनाक' स्‍तर के पार, सांस लेना भी हुआ मुश्किल

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 14 जून ): दिल्ली के लोगों के लिए प्रदूषण की वजह से इस बार गर्मी में भी सांस लेना मुश्किल हो गया है। अभी तक केवल सर्दियों में ही ऐसा होता था। मंगलवार को दिल्ली में कई जगहों पर सामान्य से 18 गुना तक अधिक प्रदूषण मिला। धूल और धुंध से हालत यह है कि सूरज भी दिन में धुंधला दिखाई दे रहा है। दिल्ली-एनसीआर के क्षेत्र नोएडा में तो हालात और भी खराब हैं।बुधवार को भी पूरी दिल्ली धूल की चादर में लिपटी-सी नजर आई। सीपीसीबी के अनुसार दिल्ली का एयर इंडेक्स 445 रहा। सफर के पूर्वानुमान के अनुसार आने वाले 24 घंटे तक इस प्रदूषण से दिल्ली को राहत नहीं मिलेगी। नोएडा में पीएम 10 का स्तर 1135 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर पहुंच गया है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले तीन दिन तक इसी तरह के हालत दिल्ली-एनसीआर में बने रहेंगे। गुरुवार को आरके पुरम, मंदिर मार्ग, द्वारका, पंजाबी बाग और आईटीओ में एयर क्वालिटी इंडेक्स खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। राजपथ क्षेत्र में प्रदुषण का स्तर पीएम 10 का स्तर 262 है।प्रदूषण बढ़ने की सबसे बड़ी वजह पीएम 10 का स्तर है। दिल्ली की 20 जगहों पर पीएम 10 का स्तर 10 गुना से अधिक रहा। सबसे अधिक पीएम 10 का स्तर मुंडका में 1804 एमजीसीएम (माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर), नरेला में 1702, नरेला में 1646, रोहिणी में 1666, जहांगीरपुरी में 1552, अरबिंदो मार्ग पर 1530, पंजाबी बाग में 1488, आनंद विहार में 1405, जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में 1462, पटपड़गंज में 1312, अशोक विहार मे 1499 रहा। पीएम 2.5 का स्तर भी बवाना में सबसे अधिक 411, कर्णी सिंह स्टेडियम में 321, मेजर ध्यान चंद स्टेडियम में 333, पटपडगंज में 318, वजीरपुर में 301 एमजीसीएम रहा।मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर का मौसम खराब होने की वजह ईरान और दक्षिण अफगानिस्तान की तरफ से आ रही धुल भरी हवाएं हैं। जो 20 हजार फीट की ऊंचाई से राजस्थान से होते हुए दिल्ली में दस्तक दे रही हैं। इससे वातावरण में धूल छा गई है. अगले 4 दिन ऐसे ही रहेंगे दिल्ली में हालात रहेंगे।