दिल्ली में ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों की अब नहीं खैर

जावेद हुसैन, नई दिल्ली (8 मार्च): अब दिल्ली की सड़क पर कानून तोड़ने से पहले सौ बार सोचिएगा। अगर आप तेज गाड़ी चलाने के शौकीन हैं, रेड लाइट को कुछ नहीं समझते और नशे में गाड़ी चलाते हैं तो जरा सावधान रहिएगा। क्‍योंकि दिल्ली ट्रैफिक पुलिस पहले से कहीं ज्यादा सख्त हो गई है। इतनी सख्त कि पिछले 3 महीने में 60 हजार लाइसेंस जब्त कर लिए गए हैं।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की नजर आप पर हर पल, हर कहीं है। मतबल दिल्ली की सड़कों पर ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों की अब खैर नहीं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस कानून तोड़ने वालों के खिलाफ बहुत सख्ती से पेश आ रही है। इसका अंदाजा आपको इस आंकड़े से लग जाएगा कि दिल्ली पुलिस ने पिछले 3 महीने में 60,000 लाइसेंस ज़ब्त किए हैं।

34,279 लाइसेंस रेड लाइट जंप करने के लिए ज़ब्त हुए 20,574 लाइसेंस रफ्तार से गाड़ी चलाने के लिए ज़ब्त हुए 2,437 लाइसेंस मोबइल फोन इस्तेमाल करते हुए ज़ब्त हुए 711 लाइसेंस शराब पीकर गाड़ी चलाने के लिए

हैरानी की बात है कि एक तिहाई चलान साउथ दिल्ली इलाके में काटे गए। मतलब साउथ दिल्ली के लोग ज्यादा कानून का उल्लंघन करते हैं। दिल्ली पुलिस इन दिनों इतनी सख्त है कि खुद ट्रैफिक पुलिस के स्पेशल सीपी मुक्तेश चंद्र सड़क पर उतरकर नजर रख रहे हैं। मौके पर पहुंच कर खुद ट्रैफिक उल्लंघन करने वालों को फटकार लगा रहे हैं।

स्पेशल सीपी की माने तो 60 हजार लाइसेंस ज़ब्त करने के अलावा भारी जुर्माना वसूल कर सरकार का खजाना भी भरा गया है। स्पेशल कमिश्नर ने ये जानकारी दी कि आने वाले समय में चालान की रकम कम से कम पांच हजार कर दी जाएगी ताकि भारी भरकम चालान से लोग डरे और लोग कानून तोड़ने से पहले सौ बार सोचें।

आपको बता दें कि ये लाइसेंस 3 महीने के लिए ज़ब्त किए जाते हैं यानी तीन महीने तक आप गाड़ी नहीं चला सकते और अगर इसके बाद फिर किसी ने कानून तोड़ा तो फिर लाइसेंस कैंसिल कर दिया जाएगा। इसके बाद आप फिर कभी गाड़ी नहीं चला पाएंगे। इसलिए अगली बार दिल्ली की सड़कों पर ज़रा संभलकर।