तीन दिन और दिल्ली-एनसीआर में रहेगा दमघोंटू जहरीली हवा का कहर

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 जून): दिल्ली की आवोहबा में प्रदुषण ने ऐसा जहर घोला है, कि लोगों का जीना मुहाल हो गया है। राजधानी के लोग इस प्रदुषण के कहर के डर से घरों में कैद हैं। कहीं भी जाने के लिए लोगों को दस बार सोचना पड़ रहा है। सीपीसीबी के एयर बुलेटिन के अनुसार, गुरुवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 431 रहा। वहीं, सफर के 8 मॉनिटरिंग स्टेशनों पर शाम 5 बजे तक एयर इंडेक्स 1093 बना रहा। ये इलाके हैं- धीरपुर, डीयू, पीतमपुरा, पूसा, लोदी रोड, एयरपोर्ट टर्मिनल थ्री, मथुरा रोड और आया नगर।खबरों के मुताबिक, दिल्ली में बच्चों, बुजुर्गों, अस्थमा मरीजों को बाहर नहीं निकलना चाहिए। सफर के पूर्वानुमान के अनुसार अब धीरे-धीरे प्रदूषण कम जरूर होगा लेकिन अगले तीन दिनों तक पीएम 10 का स्तर खतरनाक लेवल पर ही बना रहेगा। सीपीसीबी के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में सबसे अधिक प्रदूषित ग्रेटर नोएडा रहा। यहां एयर इंडेक्स 500 रहा।आपको बता दें कि अभी दिल्ली से अधिक प्रदूषण एनसीआर के शहरों में है, इसलिए वहां भी इस तरह के कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं। ईपीसीए चेयरमैन डॉ. भूरे लाल ने बताया कि सभी चीफ सेक्रेटरी को निर्देश दिए हैं कि कंस्ट्रक्शन को कुछ समय के लिए रोक दिया जाए। हरियाणा के चीफ सेक्रेटरी ने इसकी पुष्टि कर दी है। वहां 24 घंटे कंस्ट्रक्शन ऐक्टिविटी पर रोक रहेगी। बहराल, न्यूज 24 लोगों से अपील करता है, कि लोग अपने बच्चों तथा बुजुर्ग लोगों का खासा ध्यान रखें। इतना ही नहीं उन्हें घर से तभी निकलने दें जब कोई बहुत ही जरुरी काम हो। ऩहीं तो ये आपके लिए परेशानी का सबब बन सकता है।