ममता का पीएम मोदी के खिलाफ हल्लाबोल, पीएमओ के बाहर प्रदर्शन कर रहे टीएमसी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया

नई दिल्ली (5): तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और संसाद सुदीप वंद्योपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सुदीप वंद्योपाध्याय की गिरफ्तारी से नाराज टीएमसी के नेता कोलकाता से लेकर दिल्ली तक सड़कों पर उतर आए हैं। भारी तादाद में नेता और कार्यकर्ताओं ने आज दिल्ली में पीएमओ के दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया और प्रधानमंत्री मोदी पर सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाया। ममता बनर्जी का आरोप है कि नोटबंदी के विरोध की वजह से प्रधानमंत्री मोदी के इशारे  पर सीआई ने उनके सांसद सुदीप वंद्योपाध्याय को गिरफ्तार किया है।

पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया है कि मोदी के नेतृत्व में उन विपक्षी दलों को निशाना बनाया जा रहा है, जिन्होंने नोटबंदी का विरोध किया था। बनर्जी ने कहा, 'अगर वे हमारे सभी सांसदों, विधायकों, नेताओं सहित मुझे और मेरे परिवार को भी गिरफ्तार करा लेते हैं तब भी हम नोटबंदी का विरोध जारी रखेंगे।' 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा किए जाने के बाद सबसे पहले ममता बनर्जी ने इस कदम की आलोचना करते हुए कहा था कि यह जनता के खिलाफ है और इससे आम लोगों व गरीबों पर बुरा असर पड़ेगा। कुछ दिन बाद कांग्रेस, तृणमूल, आप सहित कुछ अन्य दलों का अनौपचारिक गठजोड़ बन गया, जिन्होंने नोटबंदी का कई स्तर पर विरोध किया। तृणमूल ने आरोप लगाया है कि पार्टी नेताओं की गिरफ्तारी नोटबंदी के विरोध करने की वजह से हो रही है।