NEWS24 EXCLUSIVE: स्कूल के लिए बच्चों का सत्याग्रह

नई दिल्ली (2 अगस्त): दिल्ली के किदवई नगर में मासूम अपने स्कूल रानी दुर्गावती सर्वोदय विद्यालय को बचाने में जुटे हैं। स्कूल के बाहर स्कूल के बदले स्कूल देने का नारा लगाते ये बच्चे और अभिभावक इंसाफ की मांग कर रहे हैं। बच्चों ने अपनी मांगों को लेकर विद्यालय बचाओ आंदोलन छेड़ दिया है। स्कूल प्रशासन और सरकार के रवैये से परेशान हो कर ये मासूम स्कूल के बाहर धरना दे रहे हैं। इनका कहना है कि 3 साल पहले इनसे जो वादा किया गया था, उससे वादाखिलाफी हो रही है।

दरअसल 3 साल पहले इस स्कूल को री-डिवेलप्मेंट के तहत पोर्टा केबिन में शिफ्ट कर दिया और कहा गया कि नई बिल्डिंग बनते ही उन्हें उसे फिर से अपनी पुरानी जगह दे दी जाएगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। उल्टे स्कूल के छात्रों को दूसरे स्कूलों में भेज दिया गया। अभी तक ये बच्चे स्कूल की नई बिल्डिंग मिलने की आस में थे, लेकिन स्कूल को अचानक 3 मई को आईएनए के सर्वोस्या बाल विद्यालय में मिलाने का आदेश दे दिया गया।

इधर स्कूल की नई खूबसूरत इमारत बनकर तैयार है। बच्चे इस चमचमाती इमारत को दूर से ही देखते हैं। लेकिन हैरानी की बात है कि अब तक इस इमारत को स्कूल प्रशासन को नहीं सौंपा गया है। बच्चों की दिक्कतों से परेशान अभिभावकों ने एनबीसी के अधिकारियों के पास जाकर शिकायत भी की। लेकिन अभिभावकों का कहना है कि शिक्षा विभाग सुरक्षा का हवाला देकर उन्हें गुमराह कर रहा है।

इस मामले पर जब न्यूज 24 ने स्कूल प्रशासन से जवाब मांगने की कोशिश की तो उन्होंने हमारे सवालों का जवाब देने के बदले चुप्पी साधना ही ठीक समझा। बच्चों का ये भी आरोप है कि सर्वोस्या बाल विद्यालय के शिक्षक उनसे अच्छे से पेश नहीं आते। इस मामले को लेकर स्कूल के बच्चे परेशान हैं, लेकिन कहीं भी उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। न्यूज 24 ने इस मामले को लेकर दिल्ली सरकार से भी बात करने की कोशिश की, लेकिन अब तक हमें दिल्ली सरकार के जवाब का इंतजार है।