विदेशियों के खिलाफ अपराधों के मामले में दिल्ली सबसे आगे

नई दिल्ली (4 मई): दिल्ली में सबसे ज्यादा संख्या में विदेशियों के खिलाफ हुए अपराधों के मामले दर्ज किए गए। राज्यसभा में बुधवार को पेश किए गए आंकड़ों के मुताबिक, साल 2014 में इस कैटेगरी में 164 मामले दर्ज किए गए।

'इकॉनॉमिक टाइम्स' की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली के बाद इस मामले में गोवा का स्थान आता है। गोवा में ऐसे 73 मामले दर्ज किए गए। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में 66, महाराष्ट्र में 59 मामले दर्ज हुए।

विदेशियों के खिलाफ अपराधों का कोई भी मामला असम, अरुणांचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, मणिपुर, मेघालय, नागालैंड, सिक्किम, उत्तराखंड, अंडमान और निकोबार द्वीप, दादरा और नगर हवेली, दमन द्वीप और लक्षद्वीप में दर्ज नहीं किया गया।

गृह राज्यमंत्री हरिभाई पार्थीभाई चौधरी ने कहा कि नेशनल रिकॉर्ड्स ब्यूरो ने विदेशियों के खिलाफ अपराधों के मामलों को साल 2014 से इकट्ठा करना शुरू किया है।

उन्होंने कहा, "आंकड़ों के मुताबिक, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कुल 486 मामले दर्ज हुए। इनमें स्टूडेंट्स भी शामिल हैं।"