'JNUSU प्रेसीडेंट की गिरफ्तारी सही, घटना से लश्कर-ए-तैएबा का संबंध नहीं'

नई दिल्ली (15 फरवरी): दिल्ली पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने जवाहर लाल यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में देश विरोधी नारेबाज़ी के मामले में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) को क्लीन चिट दे दी है।

जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी को उचित ठहराते हुए कमिश्नर बस्सी ने दावा किया कि उन्होंने परिसर में विवादित कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रविरोधी नारे लगाए थे। उन्होंने कहा, हालांकि पुलिस को अब तक घटना को लेकर लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ाव का सबूत नहीं मिला है।

रिपोर्ट के मुताबिक, बीएस बस्सी ने कहा कि उन्होंनें विवादित घटना के विडियो की जांच की है। जिसके बाद वह इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि देश विरोधी नारे लगाने वाले छात्रों में एबीवीपी के सदस्य शामिल नहीं थे। सोमवार को जेएनयू छात्र संघ के नेता कन्हैया कुमार की सुनवाई की गई।

इस दौरान दिल्ली की एक अदालत में पत्रकारों और कुछ छात्रों पर हमले की घटना हुई। जिसके बाद बस्सी ने कहा, "ऐसी घटनाएं मामूली थीं।" गौरतलब है, हमले के शिकार हुए पत्रकारों ने कमिश्नर से शिकायत की कि वकीलों के एक समूह ने उनके साथ मारपीट की। इस दौरान पुलिस वालों ने उन्हें नहीं बचाया। इस पर बस्सी ने अपनी प्रतिक्रिया दी।