दिल्ली पुलिस की गुंडागर्दी, पार की बर्बरता की सारी हदें

नई दिल्ली (1 फरवरी): सोशल मीडिया साइट्स पर इन दिनों एक वीडियो तेजी से वायलर हो रहा है। इस वीडियो में दिल्ली पुलिस की गुंडागर्दी को दिखाया गया है, जिसमें वो छात्रों पर बर्बरता की सारी हदें पार कर रही है। ये वीडियो 30 जनवरी शाम का है जब जेएनयू की आईसा यूनिट के छात्र आरएसएस दफ्तर के पास विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।

प्रदर्शन कर रहे छात्र हैदराबाद के छात्र रोहित वेमुला की खुदकुशी के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा दिलाने की मांग कर रहे थे। इसी दौरान इनकी पुलिस से झड़प हो गई। जिसमें कुछ पुलिसवालों ने छात्रों को जमकर पीटा। पुलिस के मुताबिक छात्र बैरिकेड तोड़कर आरएसएस दफ्तर की ओर बढ़ रहे थे, जब उन्हें रोकने की कोशिश की गई तो वो हिंसक हो गए। वहीं प्रदर्शनकारी छात्रों का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए बल प्रयोग किया और उन पर लाठियां भांजी। इस दौरान कई छात्र जख्मी हो गए। इस वीडियो के सामने आने के बाद डीसीपी सेंट्रल परमादित्य ने इस मामले की जांच की बात कही है।

पिटाई का वीडियो देखने के बाद दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल दिल्ली पुलिस को नोटिस भेजने की तैयारी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि यह काफी चौंकाने वाला वीडियो है। पुलिस वाले ऐसे कैसे महिला प्रदर्शनकारियों के खिलाफ बर्बतापूर्ण रवैया अपना सकते हैं। उन्होंने ये भी कहा कि महिलाओं के लिए वहां महिलापुलिसकर्मा क्यों नहीं थी।

उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस घटना की निंदा की है। केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी और आरएसएस पुलिस को अपनी निजी सेना की तरह इस्तेमाल कर रही है। मैं छात्रों पर हुए हमले की कड़ी निंदा करता हूं। वहीं दिल्ली पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने कहा कि मैंने अभी तक वीडियो नहीं देखा है। मुझे किसी और ने वीडियो के बारे में बताया है। मैंने स्पेशल सीपी (कानून व्यवस्था) से बात की है। हम मामले को देखेंगे कि इसमें क्या कुछ गलत हुआ है। हम चश्मदीदों से भी इस संबंध में बात करेंगे।

देखिए रिपोर्ट:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=gajpQwgEGOQ[/embed]