फ्लैट खरीदारों से धोखाधड़ी के आरोप में दिल्ली से 3 बिल्डर गिरफ्तार


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (2 दिसंबर): दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने बिल्डरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने 3 प्रॉपर्टी बिल्डरों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए सभी नामी बिल्डरों पर ग्राहकों से धोखाधड़ी का आरोप है। गिरफ्तार किए गए बिल्डरों के नाम निर्मल सिंह, सुरप्रीत सिंह और विधुर भारद्वाज बताया जा रहा है। सभी को दिल्ली के पंचशील पार्क, सैनिक फॉर्म्स और ग्रेटर कैलाश इलाके से गिरफ्तार किया गया है। सभी के खिलाफ नोएडा के सेक्टर 110 स्थित लोटस पनाके सोसाइटी में घर खरीदने वाले लोगों ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया था।

आपको बता दें कि बीते नवंबर में राष्ट्रीय उपभोक्ता फोरम के 34 करोड़ बकाया न चुकाने पर नोएडा जिला प्रशासन ने 3सी बिल्डर के सेक्टर 127 स्थित दो हाउसिंग प्रोजेक्ट प्लाटों को जब्त कर लिया। इन दोनों प्लाटों की कीमत लगभग 50 करोड़ है. जिला प्रशासन इन प्लाटों की नीलामी कर बकाया रकम की वसूली करेगा। 3सी बिल्डर के नोएडा सेक्टर 110 स्थित लोटस पनासे प्रोजेक्ट में घर खरीदने वाले लोग 2017 में साल राष्ट्रीय उपभोक्ता फोरम गए थे। यहां उन्होंने बिल्डर के 7 साल बाद भी पजेशन नहीं देने की शिकायत की थी। इस पर सुनवाई करते हुए यह कार्रवाई की गई थी। बिल्डर को खरीदारों के 34 करोड़ 75 लाख रुपए से ज्यादा बकाया रकम अदा करने थे।



पुलिस के मुताबिक बायर्स से प्रोजेक्ट में 636 करोड़ की रकम ली गई थी, जिसमें से लगभग 191 करोड़ की रकम 3C कंपनी की सब्सिडरी कंपनी में ट्रांसफर की गई, जिनका कंस्ट्रक्शन से कोई लेना देना नहीं था। दिल्ली पुलिस का कहना है कि लोटस 300 प्रोजेक्ट से जुड़े 50 से ज़्यादा पीड़ित बायर्स की शिकायत अभी तक मिली है। जिसके आधार पर कार्रवाई की गई है। प्रोजेक्ट में कुल 6 टावर बताए गए थे। इनमें किसी में भी पूरा निर्माण नहीं हुआ है। बिल्डर्स ने दावा किया था कि 300 फ्लैट्स बना रहे हैं, लेकिन उनकी संख्या बाद में बढ़ाकर 336 कर दी। एक फ्लैट की कीमत तकरीबन 2 करोड़ से लेकर 4 करोड़ तक की है। ज़्यादातर बायर्स 90 फीसदी से भी ज़्यादा पेमेंट कर चुके हैं।


ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये रिपोर्ट...