दिल्ली में ऑड-ईवन फॉर्मूले का आखिरी दिन, दिल्ली सरकार जनता को देगी धन्यवाद

नई दिल्ली(15 जनवरी): दिल्ली में  ऑड-ईवन फॉर्मूले का आ ज आखिरी दिन हैं। बीते 15 दिनों से देश की राजधानी में ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू है। दिल्ली देश का ऐसा पहला सूबा बना है,जिसने ये फॉर्मूला लागू किया है।

आज के बाद दिल्ली में कार चलाने वालों को कार की नंबर प्लेट देखने की जरुरत नहीं पड़ेगी। आज 15 जनवरी है, और आज से दिल्ली का ट्रैफिक 15 दिन पहले की तरह ही हो जाएगा। आज ऑड-ईवन फॉर्मूले का आखिरी दिन है। साल के पहले दिन यानि एक जनवरी से शुरू हुए ऑड-ईवन फॉर्मूले का एक्सपीरियमेंट आज अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुका है।

तमाम विरोध और समर्थन के बीच देश की राजधानी दिल्ली में बीते 15 दिनों से जो प्रयोग चल रहा था। आज वो खत्म हो जाएगा। कुछ लोग राहत की सांस लेंगे, तो कुछ इस नियम की मियाद खत्म होने की दुहाई देंगे। एक जनवरी से लेकर आज तक ऑड-ईवन फॉर्मूले को लेकर सियासी और कानूनी बहस जारी रही है। समाज का एक हिस्सा इस फैसले के विरोध में दिखा,तो बाकी का हिस्सा इसका समर्थन करता दिखा। 

ऑड-ईवन फॉर्मूले के बहस और समर्थन के बीच 15 दिन का वक्त बीत गया है, और अब दिल्ली सरकार 17 जनवरी को दिल्ली की जनता उनके दिए सहयोग के लिए धन्यवाद देगी। वहीं दूसरी सुप्रीम कोर्ट ने ऑढ-ईवन फॉर्मूले के विरोध में य़ाचिका दायर करने वाले को कड़ी फटकार लगाई, याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस फॉर्मूले के इस्तेमाल पर रोक नही लगाई जाएगी। दिल्ली की हवा साफ करने के लिए सरकार ही नहीं, बल्कि हम सब को मिलकर इसका समर्थन करना होगा।  अगर कोई कमी होगी तो कोर्ट जरूर सरकार को ऑर्डर जारी करेगा, लेकिन पिटीशन पर जल्द सुनवाई की जरूरत नहीं है।

फिलहाल सुप्रीम कोर्ट की ये टिप्पणी केजरीवाल सरकार के लिए राहत का सबब है। 17 जनवरी को धन्यवाद समारोह के बाद दिल्ली सरकार 15 दिनों के एक्पीरियमेंट पर 18 जनवरी को समीक्षा बैठक करने वाली है,जिसमें इस एक पखवाड़े के नतीजों पर चर्चा होगी,माना जा रहा है कि 18 जनवरी को ही ये तय हो जाएगा कि दिल्ली सरकार इस फॉर्मूले को लेकर कितनी गंभीर है।