अनिल बैजल ने जीती एलजी की ’जंग’ !

नई दिल्ली (28 दिसंबर): राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नजीब जंग का इस्तीफा मंजूर कर लिया है। पिछले दिनों नजीब जंग ने निजी वजहों का हवाला देकर दिल्ली के उप राज्यपाल के पद से इस्तीफा दे दिया है। इस बीच खबर आ रही है कि पूर्व गृह सचिव अनिल बैजल दिल्ली के नए उप राज्यपाल बन सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक बैजल के नाम का प्रस्ताव राष्ट्रपति को भेज दिया गया है और अब नजीब जंग की जगह अनिल बैजल का दिल्ली का नया उप राज्यपाल का बनना लगभग तय है।


गौरतलब है कि बता दें कि जंग की जगह लेने के लिए वाजपेयी सरकार में पूर्व होम सेक्रटरी रहे अनिल बैजल का नाम बीते कुछ दिनों से चर्चाओं में सबसे आगे चल रहा था। वाजपेयी सरकार में होम सेक्रटरी रहने के अलावा वह दिल्ली में डीडीए के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं। माना जाता है कि उनके कार्यकाल के दौरान डीडीए और ज्यादा पब्लिक फ्रेंडली और पारदर्शी बनी थी। बैजल इंडियन एयरलाइंस में सीएमडी, सूचना प्रसारण मंत्रालय में अडिशनल सेक्रटरी और सिविल एविएशन मंत्रालय में जॉइंट सेक्रटरी भी रह चुके हैं।


उन्होंने 1969 में यूटी कैडर से आईएएस के रूप में सर्विस शुरू की थी। उन्हें शहरी इलाकों में इन्फ्रास्ट्रक्चर सुधारने के लिए जवाहर लाल नेहरू रिन्यूअल मिशन के फ्लैगशिप प्रोग्रैम का पायलट भी माना जाता है। अपने 37 साल के करियर में बैजल प्रसार भारती के सीईओ, गोवा के डिवेलपमेंट कमिश्नर और नेपाल में भारत के सहयोग कार्यक्रम के काउंसलर जैसे कई अहम पदों पर रहे। वह भारती कारपोरेशन के चीफ ऐग्जिक्युटिव भी रह चुके हैं। उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय और ईस्ट एंगिला यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है।


गौरतलब है कि दिल्‍ली के उप राज्‍यपाल नजीब जंग ने 22 दिसंबर को केंद्र सरकार को अपना इस्‍तीफा सौंप दिया था। पूर्व आईएएस अधिकारी नजीब जंग ने जुलाई, 2013 में उप राज्यपाल का पदभार संभाला था। जंग ने अपने इस्‍तीफे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्‍यवाद दिया था। इसके साथ ही उन्‍होंने दिल्‍ली की जनता को सहयोग और प्रेम के लिए खासकर राष्‍ट्रपति शासन के एक साल के समय के दौरान को लेकर धन्‍यवाद दिया था। कार्यकाल के दौरान अनेकों मतभेदों के बावजूद जंग ने दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी धन्यवाद कहा था।