मुंबई नहीं रही आर्थिक राजधानी, इस राज्य ने छिन लिया दर्जा

नई दिल्ली(28 नवंबर): आर्थिक राजधानी के नाम से जानी जाने वाली मुंबई से अब ये दर्जा दिल्ली ने छिन लिया है। ऑक्सफोर्ड इकॉनमिक्स की ओर से कराए गए एक सर्वे में दुनिया के 50 मेट्रोपोलिन इकॉनमिक शहरों में दिल्ली को 30वां स्थान हासिल हुआ है, जबकि मुंबई एक पायदान नीचे यानी 31वें नंबर पर है। 

- सर्वे की रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली ने अपने शहरी क्षेत्र का विस्तार किया है। 

- गुड़गांव, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद जैसे शहरों को मिलाकर दिल्ली-एनसीआर की जीडीपी 370 अरब डॉलर यानी करीब 25,164 अरब रुपये है।

- वहीं देश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले शहर में मुंबई, नवी मुंबई, ठाणे, वसाई-विरार, भिवंडी और पनवेल को शामिल किया गया है। 

- इन शहरों की संयुक्त जीडीपी 368 अरब डॉलर रही है। सर्वे में यह भी कहा गया है कि भविष्य में भी मुंबई देश की इकॉनमिक कैपिटल के तौर पर दिल्ली को पछाड़ पाएगी इस बात की संभावना नहीं है। ग्लोबल एयवाइजरी फर्म के अनुमान के मुताबिक 2030 में दोनों शहर दुनिया के बड़े आर्थिक केंद्रों में से एक होंगे। ऑक्सफोर्ड के अनुमान के मुताबिक 2030 में दिल्ली का स्थान 11वां और मुंबई का 14वां होगा।