दिल्ली में जहरीली हवा का प्रभाव, कल बंद रहेंगे 5वीं क्लास तक के स्कूल

नई दिल्ली ( 7 नवंबर ): दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने प्राइमरी स्कूलों को कल तक बंद करने के आदेश जारी किए हैं। 

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बढ़ते प्रदूषण को लेकर की गई बैठक के बाद बताया कि स्मॉग के चलते कल यानी बुद्धवार को 5वीं क्लास तक के बच्चों की छुट्टी रहेगी। सिसोदिया ने दिल्ली के लोगों से अपील की है कि वे कहीं भी पत्ते, लकड़ी या अन्य चीजें न जलाएं, क्योंकि इससे हवा प्रदूषित होती है। वहीं दिल्ली के स्कूलों को एडवाइजरी जारी की जा रही है कि खराब होते हालात को देखते हुए बच्चों की मॉर्निंग असेंबली और बाहर की गतिविधियां बंद कर दी जाएं।

प्राइमरी स्कूलों की छुट्टी पर दिल्ली सरकार ने फिलहाल कल के लिए आदेश दिया है और कहा है कि जरूरत पड़ने पर इस आदेश को आगे भी जारी रखा जा सकता है।

सिसोदिया ने कहा कि प्रदूषण का सबसे ज्यादा असर बच्चों और गर्भवती महिलाओं पर पड़ता है।  डिप्टी सीएम ने दिल्ली के लोगों को सावधानी बरतने को कहा है। सिसोदिया ने बताया कि जरूरत पड़ने पर दिल्ली सरकार ग्रेडेड एक्शन प्लान के लिए तैयार है। सभी ट्रक और कंस्ट्रक्शन को बंद किया जा सकता है।

डिप्टी सीएम ने कहा कि राजधानी की ये स्थिति पराली जलाने की वजह से है. सिसोदिया ने बताया कि ऐसे हालात में केंद्रीय पर्यावरण मंत्री देश से बाहर हैं, बल्कि उन्हें देश में होना चाहिए।

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा था कि दिल्ली में प्रदूषण को देखते हुए, मैंने मनीष सिसोदिया, शिक्षा मंत्री से अनुरोध किया है कि वे कुछ दिनों के लिए स्कूल बंद करने पर विचार करें।

मनीष सिसोदिया ने मंगलवार शाम को बैठक बुलाई थी, जिसमें शिक्षा, स्वास्थ और पर्यावरण विभाग के सदस्य शामिल हुए।

दरअसल दिल्ली में प्रदूषण का स्तर अपने चरम पर पहुंच गया है, जिसके चलते लोगों को सांस से जुड़ी कई तरह की परेशानियां हो रही हैं। लिहाजा अस्पतालों में ऐसे मरीजों की संख्या दिनो-दिन बढ़ती जा रही है।