दिल्ली के प्राइवेट स्कूलों की बढ़ी मुश्किलें, फीस लौटाने के लिए नोटिस जारी करेगी सरकार

नई दिल्ली (21 अगस्त): एक बड़ी कार्रवाई के तहत दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने 449 निजी स्कूलों को टेकओवर करने के दिल्ली सरकार के आदेश को मंजूरी दे दी है। इन स्कूलों पर ये कार्रवाई मनमानी फीस वसूलने को लेकर की गई है। इन स्कूलों ने सरकार के फीस वापस लौटाने के आदेश की अनदेखी की थी।

दिल्ली के शिक्षा मंत्री की सलाहकार आतिशी मर्लिना का कहना है कि स्कूलों को टेकओवर करने के प्रस्ताव को एलजी ने मंजूरी दे दी है और अब हम मंगलवार से इन स्कूलों को कारण बताओ नोटिस जारी करके 14 दिन के अंदर मनमानी बढ़ाई फीस लौटाने को कहेंगे जो ना होने पर हम टेकओवर के लिए आगे बढ़ेंगे। हालांकि अच्छी बात ये है कि जब से स्कूलों ने देखा कि दिल्ली सरकार सख्त है और टेकओवर भी कर सकती है तब से अभी तक 449 में से 17 स्कूल मनमानी बढ़ाई फीस कोर्ट में जमा करवा चुके हैं।

 
आपको बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने 18 अगस्त को नियमों के खिलाफ जाकर फीस बढ़ाने वाले प्रावेट स्कूल से दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए बढ़ी हुई फीस अभिभावाकों को वापस करने की अपील की थी। केजरीवाल ने कहा था कि स्कूल अगर अदालत के आदेश का पालन नहीं करते हैं तो सरकार को अंतिम विकल्प के तौर पर इन स्कूलों का प्रबंधन और संचालन अपने हाथों में लेना पड़ेगा। 

केजरीवाल ने 18 अगस्त को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा था कि छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के नाम पर इन स्कूलों ने स्कूल की फीस बढ़ाई थी जिसे अदालत ने जस्टिस अनिल देव समिति समिति की जांच के आधार पर गलत पाते हुए सरकार से इस दिशा में की गई कार्रवायी का जवाब मांगा था। केजरीवाल ने कहा कि सरकार ने अदालत को बताया कि सरकार अनिल देव समिति की सिफारिशों को स्कूलों से लागू कराएगी। जो स्कूल इसे लागू नहीं करेंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी और जरूरत पड़ने पर ऐसे स्कूलों को टेकओवर भी कर सकती है।

ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये खास रिपोर्ट: