नजीब जंग का इस्तीफा, केजरीवाल और मोदी के बीच डील तो नहीं- कांग्रेस

नई दिल्ली (22 दिसंबर): द‌िल्ली के एलजी नजीब जंग ने सबको चौंकाते हुए अपना इस्तीफा दे दिया। एलजी जंग के OSD के मुताबिक उन्होंने निजी कारणों से इस्तीफा दिया है और वो अब अपने परिवार के साथ समय बिताना चाहते हैं।

नजीब जंग ने अपने कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री मोदी से मिले सहयोग के लिए आभार जताया है, वहीं उन्होने दिल्लीवासियों को भी सहयोग के लिए शुक्रिया कहा है. इसके अलावा उन्होंने अरविंद केजरीवाल को भी धन्यवाद दिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उनके लिए जंग का इस्तीफा चकित करने वाला है। केजरीवाल ने ट्वीट कर जंग को भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं है।

इन सबके बीच कांग्रेस ने नजीब जंग के इस्तीफे पर सवाल उठाया है। कांग्रेस नेता अजय माकन ने केंद्र से सवाल किया है कि सरकार को बताया चाहिए कि समय से पहले नजीबजंग के पद छोड़ने के पीछे क्या कारण है। साथ ही अजय माकन ने सवाल उठाया है कि क्या केजरीवाल और नरेंद्र मोदी जी के बीच कोई डील हुई है और इसकी वजह से नजीब जंग जी को जाना पड़ा? इतना ही नहीं कांग्रेस का कहना है कि अगर केंद्र सरकार सरकार RSS के किसी नुमाइंदे को उपराज्यपाल बनाएगी तो वो उसका विरोध करेंगी।

जंग के इस्तीफे पर कांग्रेस का केंद्र से सवाल...

- केजरीवाल और नरेंद्र मोदी जी के बीच में क्या डील हुई है, जिस वजह से नजीब जंग जी को जाना पड़ा

- समय से पहले नजीबजंग के पद छोड़ने के पीछे क्या कारण है, यह केद्र सरकार को बताना चाहिए

- अगर सरकार किसी आरएसएस के नुमाइंदे को उपराज्यपाल बनाएगी तो हम उसका विरोध करेंगे

दरअसल कई मुद्दों पर केजरीवाल और नजीब जंग के बीच खुलकर सामने आ गए थे। नजीब जंग और केजरीवाल के बीच कई मुद्दों पर मतभेद हमेशा सुर्खियों में रहे। अरविंद केजरीवाल अक्सर आरोप लगाते थे की नजीब जंग पर केंद्र सरकार के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं। ऐसे में नजीब जंग के समय से पहले इस्तीफा से लोग अचंभे में हैं।