दिल्लीवालों को झटका, केजरीवाल सरकार ने पानी के बिल में की 20% बढ़ोतरी

नई दिल्ली (27 दिसंबर): दिल्ली के मुख्यमंत्री व दिल्ली जल बोर्ड के अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल की अगुआई में मंगलवार को हुई बोर्ड की बैठक में पानी-सीवर शुल्क में वृद्धि करने संबंधी प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। दिल्ली जल बोर्ड ने पानी के टैरिफ प्लान में 20% बढ़ोत्तरी का प्रपोजल पास किया है।

इस फैसले का असर हर महीने बीस हजार लीटर से ज्यादा पानी खर्च करने वाले उपभोक्ताओं पर पड़ेगा। इससे कम पानी का इस्तेमाल करने वालों को सब्सिडी मिलती रहेगी। नई दर एक फरवरी 2018 से प्रभावी होगी। मंगलवार को दिल्ली जल बोर्ड की बैठक में यह फैसला लिया गया। इससे सब्सिडी स्कीम के दायरे में न आने वाले उपभोक्ताओं को महीने में 28 रुपये ज्यादा चुकाने होंगे। जल बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि बीस फीसदी एकमुश्त की बढ़ोतरी बीते दो साल दरों के स्थिर रहने से हुई है। इससे पहले हर साल पानी के बिल में 10 फीसदी का इजाफा होता था, लेकिन जनवरी 2015 के बाद से पानी का बिल नहीं बढ़ाया गया था। नई बढ़ोतरी 2018 के लिए हुई है। ऐसे में उपभोक्ताओं को तीन साल का एक साथ महज बीस फीसदी ही अतिरिक्त देना होगा।

केजरीवाल सरकार के पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा ने मीडिया से कहा, ''ये जनता के साथ धोखा है। हमने बजट में कहा था कि पानी के दाम नहीं बढ़ने देंगे। पिछले ढाई साल में कभी टैरिफ प्लान महंगे नहीं हुए। अब क्या जरूरत पड़ी इस फैसले की। केजरीवाल को अभी जल मंत्री बने दो महीने हुए हैं, अचानक जल बोर्ड घाटे में चला गया।''