कन्हैया की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा

नई दिल्ली (29 फरवरी): दिल्ली हाइकोर्ट ने कन्हैया की जमानत याचिका पर फैसला 2 मार्च तक के लिए सुरक्षित रखा है। बता दें कि कन्हैया जेएनयू कैंपस में कथित तौर पर भारत-विरोधी नारे लगाने के चलते देशद्रोह के मामले में गिरफ्तार हुए थे।

जांच के दौरान कन्हैया का आमना-सामना जेएनयू के दो अन्य गिरफ्तार छात्रों- उमर खालिद और अनिर्बाण भट्टाचार्य से करवाने के लिए उसे एक दिन की हिरासत में लिया गया। उमर और अनिर्बाण ने 23 फरवरी की रात पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था। 

इससे पहले कन्हैया ने पहली बार अपना बयान जारी किया था जिसमें उसने बताया था कि उसे कोर्ट में पीटा गया था। कपड़े फाड़े गए थे। इस दौरान उसकी पैंट भी उतर गई थी। पिटाई के दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही। वकीलों ने उसे गंदी-गंदी गालियां दीं। इस दौरान उसने एक वकील को पहचाना भी था। घटना के बारे में पुलिस को भी बताया लेकिन किसी ने कोई मदद नहीं की।