रियो ओलंपिक मामला: कोर्ट ने पहलवान सुशील कुमार को कहा...

नई दिल्ली (17 मई): रियो ओलंपिक में 74 किलोग्राम वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व करने की मांग करने वाले पहलवान सुशील कुमार को दिल्ली हाई कोर्ट से भी कोई राहत नहीं मिली है। कोर्ट ने भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) से कहा कि वह ओलंम्पिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार के साथ बैठकर उनसे जुड़े मामले को सुलझाने का प्रयास करे।

न्यायालय ने कहा कि डब्ल्यूएफआई ही ऐसे मामलों में फैसले लेता है, हम इसमें तभी घुसते, जब किसी प्रकार की गड़बड़ी हुई होती। ऐसे में डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव और कोच को सुशील के साथ बैठकर उनके रियो जाने को लेकर कोई रास्ता निकालना चाहिए।

हालांकि अदालत ने डब्ल्यूएफआई, नरसिंह यादव, भारतीय ओलंपिक संघ, भारतीय खेल प्राधिकरण और खेल मंत्रालय को सुशील की इस शिकायत पर नोटिस जारी किया, जिसमें उन्होंने कहा है कि ओलंपिक सीट के लिए सेलेक्शन ट्रायल राष्ट्रीय खेल कोड के मुताबिक नहीं हुए। अदालत ने कहा कि वह इस मामले की सुनवाई अब 27 मई को करेगा।

आपको बता दें कि सुशील रियो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करना चाहते हैं लेकिन नरसिंह यादव पहले ही इस वर्ग में ओ‍लंपिक कोटा हासिल कर चुके हैं। अब सुशील चाहते हैं कि उनका नरसिंह के साथ मुकाबला हो और जो भी जीते, वह रियो जाए।

सुशील इससे पहले भारत के लिए दो बार ओलंपिक पदक जीत चुके हैं। बीजिंग में सुशील ने कांस्य और लंदन में रजत जीता, लेकिन दोनों पदक उन्होंने 66 किलोग्राम वर्ग में जीते थे, जिसे अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ ने बीते साल भंग कर दिया था। इसके बाद सुशील ने 74 किलोग्राम का रुख किया, जिसमें नसिंह भारत के नंबर-1 पहलवान हैं।