दिल्ली में गैंगवार में फायरिंग, 1 शख्स की मौत

नई दिल्ली(4 फरवरी): दिल्ली के नजफगढ़ में गैंगवार में एक युवक को गोली मार दी गई। बदमाशों ने जिस युवक की हत्या की उसपर दूसरे गुट के शख्स की हत्या का केस चल रहा था। पुलिस ने दो गुटों के गैंगवार को रोकने के लिए दबिश तेज कर दी है।   

पुलिस के अफसर आपस में सलाह मश्विरा कर रहे थे तो वहीं दूसरी क्राइम ब्रांच की टीम कार का मुआयना कर रही थी। दिल्ली पुलिस जानती है कि इस एक कत्ल के बाद कई और लाशें दिल्ली की सड़कों पर मिल सकती है । क्य़ोंकि ये मर्डर एक गैंगवार का नतीजा है। जिसका असूल है खून के बदले खून। 

नजफगढ़ के रोशनपुरा इलाके में अचानक सोमदत्त पर फायरिंग शुरू हो गई। सोमदत्त जान बचाने के लिए कार से उतरकर भागा लेकिन बदमाशों ने उसका पीछा नहीं छोड़ा और सोमदत्त पर ताबड़तोड़ फायरिंग की गई सोमदत्त को 2 गोली लगी। दिल्ली की सड़कों पर सरेआम हो रही फायरिंग से लोग सहम गए। भगदड़ मच गई लेकिन बदमाशों की गोली से कोई भी राहगीर जख्मी नहीं हुआ। 

सोमदत्त के परिवार वालों ने भी माना है कि हत्या की वजह पुरानी रंजिश है। पिछले साल नवम्बर में भी सोमदत्त के छोटे भाई प्रदीप शर्मा को कई गोलियां मारी गयी थी लेकिन उसकी जान बच गई थी। सोमदत्त केबल ऑपरेटर था। लेकिन उसका आपराधिक इतिहास भी है। पुलिस के मुताबिक सोमदत्त के कत्ल की वजह एक साल पुराने एक मर्डर में उसका शामिल होना है। 

सोमदत्त तो जेल में था लेकिन शक्ति शर्मा गैंग बदला लेने के लिए मौका तलाश रहा था यही वजह है कि जेल से बाहर आते ही सोमदत्त पर हमला हो गया। सोमदत्त पर किडनैपिंग, मर्डर और जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज था। पुलिस अब शक्ति शर्मा की तलाश कर रही है।