झूठी निकली गैंगरेप की कहानी, लड़की के पास से लाखों बरामद

नई दिल्ली (13 जून): राजधानी दिल्ली में पिछले दिनों एक लड़की के अपहरण और उसके बाद उसके साथ गैंगरेप करने की खबर में नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने इस मामले में उस लड़की को ही झूठी शिकायत करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। लड़की के पास से लाखों रुपये भी बरामद किए गए हैं जो उसने ऐसी शिकायत करने के बाद आरोपियों से वसूले थे।

गौरतलब है कि 11 जून की रात सनलाइट कॉलोनी में रहने वाली एक लड़की ने शिकायत दर्ज कराई थी कि वो निजामुद्दीन स्थित रेस्टोरेंट से खाना लेने गई थी कि तभी रास्ते में उसे कार सवार दो लोगों ने अगवा कर लिया और कार में ही उसके साथ रेप के बाद उसे आईटीओ पर फेंककर फरार हो गए। पुलिस ने इस मामले में दो एमबीए छात्रों को अरेस्ट किया जिनमें से एक कुछ ही दिन पहले ऑस्ट्रेलिया से लौटा था।

पुलिस ने जब 21 साल की इस लड़की के आरोपों की जांच की तो मामला उल्टा हो गया। पुलिस ने उस लकड़ी को ही गिरफ्तार कर लिया। उसपर गैंगरेप का झूठा केस दर्ज कराने का आरोप है। पुलिस के मुताबिक ये लकड़ी पहले भी एक ऐसा ही फर्जी रेप का मामला दिल्ली के आनंद विहार थाने में दर्ज करा चुकी थी। पुलिस ने इसके कब्जे से साढ़े 9 लाख रुपये भी बरामद किए हैं जो पैसा उसने लड़कों को ब्लैकमेल कर लिया था।

दरअसल पुलिस ने लकड़ी से कहा था कि वो जब कमसम जा रही थी तब ही रास्ते में कुछ लड़कों ने उसका किडनैप किया था। पर पुलिस ने जब कमसम की सीसीटीवी फुटेज खंगाली तो पाया कि वो वहां गई थी। इसके बाद लड़की पर शक हुआ और उससे सख्ती से पूछताछ की गई तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। मामले की आगे जांच की जा रही है।