'मंथन' में बोले मनीष सिसौदिया- कन्हैया का सेना पर दिया बयान गलत

नई दिल्ली (10 मार्च): बीएजी फिल्म एंड मीडिया लिमिटेड  के मीडिया इंस्टीट्यूट आईसोम्स (ISOMES) के तीन दिवसीय फेस्ट'मीडिया फेस्ट 24 मंथन' के दूसरे दिन राजनीति के दिग्गज एक ही मंच पर जुटे।

पहले सत्र में पूर्व पत्रकार और वर्तमान में दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसौदिया पहुंचे और भावी पत्रकारों का निष्पक्ष पत्रकारिता का पाठ पढ़ाया। इस मौके पर सिसौदिया को बीएजी फिल्म एंड मीडिया लिमिटेड की एमडी अनुराधा प्रसाद के सवालों का भी सामना करना पड़ा।

कार्यक्रम के दौरान कन्हैया पर दिल्ली सरकार का पक्ष रखते हुए सिसौदिया ने साफ कहा कि देश की राजधानी के भीतर अगर कोई गतिविधि होती है, तो उसकी सही जानकारी रखना उस सरकार का भी काम है।उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार ने मजिस्ट्रेट स्तर के अधिकारी से एक रिपोर्ट तैयार कराई और उसके तथ्य कोर्ट के सामने रख दिए। उन्होंने यह भी कहा कि कन्हैया को क्लीन चिट देने या न देने का काम कोर्ट का है, इसमें राज्य सरकार कोई हस्तक्षेप नहीं कर सकती है।

सिसौदिया ने जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार के उस बयान को गलत बताया कि कश्मीर में कुछ सैनिक महिलाओं से बलात्कार करते हैं। सिसौदिया ने कहा कि इस तरह के बयान से पूरी सेना की छवि खराब होती है। उन्होंने यह भी कहा कि न तो उनकी पार्टी और न सरकार कन्हैया के कश्मीर पर दिए बयान में उसके साथ है।

श्रीश्री रविशंकर के वर्ल्ड कल्चर फेस्टिवल पर पूछे गए एक सवाल पर मनीष सिसौदिया ने कहा कि दिल्ली को ईवेंट कैपिटल बनाने की जरूरत है। ऐसे कार्यक्रम होने से देश की राजधानी की प्रतिष्ठा पूरे विश्व में बढ़ती है। नवोदित पत्रकारों को नसीहत देते हुए पूर्व पत्रकार सिसौदिया ने कहा कि पत्रकार का काम है सच का साथ देना है, इसलिए अब जरूरी है कि तटस्थ होकर पत्रकारिता न की जाए।