NEWS24 की मुहिम का असर, दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल से हटाए गए बाउंसर

नई दिल्ली(2 अगस्त): न्यूज 24 की मुहिम का बड़ा असर दिखा है। दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल की इमरजेंसी के आस पास से सारे बाउंसर हटा दिए गए हैं। मंगलवार को एक मरीज के तिमारदार के साथ हुई बाउंसरों की बदतमीजी के बाद न्यूज 24 ने दिल्ली के अस्पतालों के खिलाफ एक बड़ी मुहिम छेड़ दी थी। इस मुहिम ने अब असर दिखा दिया है और अस्पताल के बाहर से बाउंसरों को बाहर कर दिया गया है।

क्या है पूरा मामला...

- अस्पताल में बाउंसरों की गुंडागर्दी सामने आई है। दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में मरीज के साथ आए एक युवक को बाउंसरों ने बेरहमी से पीट दिया। बाउंसरों की पिटाई से युवक के हाथ में फ्रैक्चर हो गया और उसके पैरों में भी गंभीर चोट आई है।

- दरअसल रविवार की रात अंकित बाइक पर अपने घर जा रहा था। तभी मीरा बाग के पास उसे हादसे में घायल एक बुजुर्ग दिखे। अंकित ने फौरन गाड़ी रोकी और उन्हें अपनी बाइक से दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल लेकर आ गया। इसी बीच अंकित का बाइक की पार्किंग को लेकर बाउंसर के कहासुनी हो गई। उस वक्त अंकित जल्दी में था। उसे हादसे में घायल 60 साल के सतवीर सिंह को इमरजेंसी में भर्ती करवाना था। इसलिए वो किसी तरह वहां से चला गया। लेकिन जब बाहर आया तो एक बार फिर बाइक को लेकर उसकी बाउंसरों से कहासुनी हो गई, जिसके बाद बाउंसरों ने उसको बेरहमी से पीट दिया। हैरानी की बात ये है कि जिस जगह पर ये घटना घटी वहां पुलिस भी तैनात थी, लेकिन किसी भी पुलिसवाले ने उसे बचाने की कोशिश नहीं की। ना ही बाउंसर पर कोई कार्रवाई की गई।

- अंकित के भाई मोहित भी उस वक्त किसी रिश्तेदार के साथ अस्पताल आए थे। जब उन्होंने अपने भाई को बचाने की कोशिश की तो बाउंसर ने उन्हें भाई पकड़ लिया। मोहिता के मुताबिक फोन पर शिकायत के बाद पीसीआर वहां जरूर पहुंची, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। उल्टा उन्हें अपने भाई को मेडिकल के लिए सफदरजंग अस्पताल ले जाना पड़ा।