दिल्ली से दूर-दराज के शहरों की फ्लाइट होगी सस्ती

नई दिल्ली (8 मार्च): दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने आज अपना तीसरे बजट पेश किया। बजट में भी शिक्षा और स्वास्थ्य पर जोर दिया और टैक्स दरों कोई बढ़ोतरी नहीं की। सबसे बड़ी टैक्स रियायत दिल्ली से देश के कुछ दूर-दराज के शहरों खासकर पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए उड़ान भरने वाले विमानों के ईंधन यानी एटीएफ पर वैट कटौती के रूप में आई है। पहले इस पर 25 फीसदी वैट था, जो अब सिर्फ 1 फीसदी लगेगा।

वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने वर्ष 2017-18 का बजट पेश करते हुए बताया कि केंद्र ने रिमोट कनेक्टिविटी स्कीम के तहत एटीएफ पर टैक्स दरें घटाने की पहल की थी। दिल्ली स्कीम का हिस्सा नहीं है, फिर भी देश के छोटे हवाईअड्डों खासकर पूर्वोत्तर के शहरों से आने-जाने वालों की सुविधा के लिए दिल्ली सरकार ने यह कदम उठाया है।

वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इससे दिल्ली से कई शहरों की सीधी उड़ानों के एयर टिकट सस्ते होंगे। बाहरी एयरलाइंस भी दिल्ली से ऑपरेट करने के लिए प्रेरित होंगी। एटीएफ के अलावा 20 रुपये से ज्यादा मूल्य के सैनिटरी नैपकिन पर वैट दर 12.5 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी करने का प्रस्ताव है। 20 रुपये से सस्ते नैपकिन वैट फ्री हैं। पिछले साल सरकार ने टिंबर और टाइल्स पर वैट दरों में भारी कटौती की थी। लेकिन उनके पैरलल कई आइटमों पर छूट लागू नहीं हुई, जिसकी इंडस्ट्री मांग करती आ रही थी। इस बजट में प्लाईवुड, ब्लैकबोर्ड, पार्टिकल बोर्ड के साथ-साथ ग्रेनाइट, स्वदेसी कोटा स्टोन सहित सभी इमारती पत्थरों पर वैट दरें 12.5 से घटाकर 5 फीसदी करने का प्रस्ताव है।