2028 तक दुनिया का सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला शहर बन जाएगा दिल्ली

                                                                                  Photo:Google


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (17 फरवरी): क्या आपने कभी इस बात की कल्पना की है कि बहुत जल्द आपको दिल्ली में  गाड़ी चलाने के लिए सड़क नहीं मिलेगी। पीने के लिए साफ पानी नहीं मिलेगा। गर्मी इतनी ज्यादा होगी कि आप घर से बाहर निकलने से पहले हज़ार बार सोचेंगे। हवा इतनी प्रदूषित होगी कि आपको हर वक़्त मास्क पहनना पड़ेगा। ये सब कुछ इसलिए होगा क्योंकि हमारे शहरों में आबादी का विस्फोट हो चुका है। संयुक्त राष्ट्र के नये अनुमानों के मुताबिक 2028 के आसपास दिल्ली के दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला शहर बन जाएगा।





अभी जापान की राजधानी टोक्यो सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर है, वहां की जनसंख्या 3 करोड़ 70 लाख है, जबकि एक अनुमान के मुताबिक इस वक़्त दिल्ली की जनसंख्या करीब 2 करोड़ 90 लाख है। लेकिन सिर्फ 10 वर्षों के बाद दिल्ली की आबादी टोक्यो को पीछे छोड़ देगी। 2028 में दिल्ली की जनसंख्या 3 करोड़ 72 लाख हो जाएगी और टोक्यो की आबादी 3 करोड़ 68 लाख हो जाएगी।






संयुक्त राष्ट्र की नई रिपोर्ट के अनुसार 2050 तक दुनिया की 68% जनसंख्या शहरों में रहने लगेगी। अभी दुनिया की 55% जनसंख्या शहरों में रहती है। 2050 तक दुनिया के शहरों में आज के मुकाबले 250 करोड़ लोग ज्यादा रहने लगेंगे, और इनमें भी 90% की वृद्धि एशिया और अफ्रीका के देशों में होगी। इसका सीधा सा मतलब ये है कि दिल्ली का बुरा हाल होने वाला है। 2021 में दिल्ली में हर आदमी को रहने के लिए 40 Square Meter की जगह की जरूरत होगी।  






मौजूदा समय में उत्तरी अमेरिका में शहरी आबादी सबसे ज्यादा है। वहां 82 प्रतिशत लोग शहरों में रहते हैं। यूरोप में 74 प्रतिशत और एशिया में 50 प्रतिशत लोग शहरों में रहते हैं। अभी भी भारत की ज्यादातर आबादी गांव में रहती है।