Blog single photo

चांदनी चौक के लॉकर की सही तरीके से नहीं हुई थी KYC, जांच जारी

दिल्ली के चांदनी चौक में एक दुकान पर बने निजी लॉकर पर शनिवार रात आयकर विभाग ने छापेमारी की। इस छापे में 100 लॉकर से 25 करोड़ रुपए से ज्यादा के नकदी जब्त किए गए

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (4 दिसंबर): दिल्ली के चांदनी चौक में एक दुकान पर बने निजी लॉकर पर शनिवार रात आयकर विभाग ने छापेमारी की। इस छापे में 100 लॉकर से 25 करोड़ रुपए से ज्यादा के नकदी जब्त किए गए। दरअसल नया बाजार में एक छोटी सी दुकान में ड्राई फ्रूट्स और साबुन का बिजनेस चल रहा था, लेकिन उसकी आड़ में दुकान के बेसमेंट में करीब 100 प्राइवेट लॉकर्स बनाए गए थे। इस छापेमारी को लेकर सीबीडीटी के चेयरमैन सुशील चंद्रा का कहना है कि लॉकर की सही तरीके से  KYC नहीं हुई थी। इसलिए हम सभी लॉकर के मालिकों से उनके डिपाजिट के बारे पूछताछ कर रहे हैं और जिनके बारे में जानकारी नहीं मिल पा रही है उस रकम को जब्त किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि लॉकर की छापेमारी से अभी तक करीब 25 करोड़ रुपये अघोषित आय का पता चला है।बताया जा रहा है कि 5 नवंबर को इनकम टैक्स की टीम को वहां हवाला रैकेट चलाने की जानकारी मिली। जिसके बाद टीम अचानक दुकान में पहुंच गई और 25 करोड़ रुपए जब्त किए। इसके अलावा वहां 100 लॉकर्स भी थे जिनमें पैसे भरे हुए थे। यह पुरानी दिल्ली की एकमात्र निजी लॉकर सेवा है। लॉकर रूम में प्रवेश के लिए रजिस्टर में एंट्री करनी पड़ती थी। तीन रजिस्टर में से दो रजिस्टर आयकर विभाग ने जब्त किए हैं। लॉकर रूम के अंदर सीसीटीवी भी लगे हुए हैं। लॉकर रोजाना सुबह 11:20 बजे से शाम 7:20 तक खुले रहते थे। उधर, किराना कमेटी दिल्ली के अध्यक्ष  विजय गुप्ता बंटी का कहना है कि  सभी बैंक चार बजे बंद हो जाते हैं। व्यापारी दुकान में पैसा रखता है, तो वहां चोरी का भय रहता है।  

इनकम टैक्स के अधिकारियों के मुताबिक उनकी सूचना के मुताबिक देश के सिर्फ बड़े शहरों के प्राइवेट लॉकर में 500 करोड़ रुपए कैश होने की आशंका है। दिल्ली के चांदनी चौक इलाके में हाल ही में इनकम टैक्स की छापेमारी के दौरान एक छोटी सी दुकान में चल रहे प्राइवेट लॉकर से 25 करोड़ रुपए कैश बरामद किए गए। यह दुकान मेवे की है, लेकिन यहां प्राइवेट लॉकर चलाने का काम भी हो रहा था।

Tags :

NEXT STORY
Top