टैंकर घोटाला: ACB जाएंगे कपिल मिश्रा, बनेंगे सरकारी गवाह


नई दिल्ली(8 मई): दिल्ली सरकार में मंत्री रहे कपिल मिश्रा टैंकर घोटाले को लेकर सोमवार सुबह ऐंटी करप्शन ब्रान्च (ACB) दफ्तर जाएंगे। केजरीवाल सरकार पर घोटाले की रिपोर्ट को दबाने का आरोप लगाने के साथ ही कपिल ने कहा कि वह सरकारी गवाह बनेंगे।


- उन्होंने कहा कि 2 साल पहले टैंकर घोटाले की रिपोर्ट सरकार को सौंप दी गई थी, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। कपिल ने कहा कि वह टैंकर घोटाले को लेकर ACB में दो लोगों का नाम देंगे, अशीष तलवार और विभव पटेल।


- कपिल मिश्रा ने कहा, 'पार्टी सदस्यों से मुझे पता चला है कि बुधवार तक सत्येंद्र जैन का इस्तीफा कराने का मन बना लिया गया है। केजरीवाल जी ने यदि ऐसा मन बना लिया है तो यहां से सच्चाई की जीत शुरू होती है। अगर सत्येंद्र जैन जेल जाते हैं तो मेरी सच्चाई दुनिया के सामने आएगी। अगर सत्येंद्र जैन पाक साफ बचकर निकल जाते हैं तो मान लिया जाए कि कपिल मिश्रा झूठा है।'


- कुमार विश्वास द्वारा केजरीवाल पर भरोसा जताए जाने को लेकर कपिल ने कहा, 'मुझे अच्छा लगा कि कुमार विश्वास ने नहीं माना। मैं उनकी जगह होता तो नहीं मानता। भगवान भी आकर कहता तो नहीं मानता। लेकिन मैंने अपनी आंखों से देखा है। आज मैं अकेला हूं, लेकिन जिस दिन सत्येंद्र जैन जेल जाएंगे उस दिन मैं फिर सबसे बात करूंगा।


- इससे पहले रविवार को ही कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया था कि उनके आंखों के सामने सत्येंद्र जैन ने अरविंद केजरीवाल को 2 करोड़ रुपये कैश दिया। साथ ही यह भी बताया कि सत्येंद्र जैन ने केजरीवाल के एक रिश्तेदार के लिए 50 लाख रुपये की लैंड डील कराई। गौरतलब है कि शनिवार शाम को कपिल मिश्रा को कैबिनेट से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। इससे पहले उन्होंने ACB चीफ को लेटर लिखकर कहा था कि वह टैंकर घोटाले को लेकर कुछ नए तथ्य पेश करना चाहते हैं।