'भारत माता की जय' न बोलने पर स्टूडेंट का हाथ तोड़ने का आरोप

नई दिल्ली(30 मार्च): दिल्ली के एक मदरसे के तीन छात्रों ने आरोप लगाया है कि 'भारत माता की जय' न बोलने पर कुछ लोगों ने इनकी पिटाई कर दी। ये घटना दिल्ली के बाहरी इलाके बेगमपुर की है। पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है और आरोप के तथ्यों की जांच कर रही है। 

आरोप है कि एक ग्रुप ने 'भारत माता की जय' न कहने पर मदरसे में पढ़ने वाले दिलकश और उसके दो साथियों अजमल-नईम को बुरी तरह पीटा। दिलकश के मुताबिक मैं और मेरे दोस्त बांस वाला पार्क में घूम रहे थे। पार्क हमारे मदरसे से करीब 300 मीटर की दूरी पर है। तभी हम लोगों पर कुछ लोगों ने हमला किया। उन्हें हमें इसलिए निशाना बनाया क्योंकि हम टोपी पहने हुए थे। दिलकश ने बताया कि उन्होंने हमसे ‘भारत माता की जय’ नारा लगाने को कहा।

वहीं डीसीपी विक्रमजीत सिंह के मुताबिक मंगलवार को सेक्शन 323 (घायल करने), 325 (जानबूझकर गंभीर नुकसान पहुंचाने), 341 (गलत तरीके से विरोध करने) और आईपीसी की धारा 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। सिंह ने बताया कि हम मेडिको-लीगल रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। दिलकश की शिकायत के आधार पर FIR रजिस्टर कर ली गई है। उसका हाथ फ्रैक्चर हो गया है। दिलकश ने बताया था कि उनसे जबरदस्ती भारत माता की जय बोलने को कहा गया था।

दिलकश ने बताया, एक हमलावर ने उसके दोस्त अजमल को इसलिए मारा क्योंकि उसने भारत माता की जय से मना कर दिया। जब मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की तो मुझपर हमला कर दिया।