दिल्ली में बिजली संकट गहराने की आशंका, NTPC की प्लांट में बचा है मात्र 20 घंटे का कोयला

नई दिल्ली (29 मई): गर्मी के चढ़ते पारे के बीच दिल्ली एनसीआर के लोगों के लिए बुरी खबर है। आज दिल्ली अंधेरे में डूब सकता है क्योंकि पावर प्लांट में कोयला नहीं बचा है। आज दोपहर 12 बजे के बाद बिजली संकट गहरा सकता है। क्योंकि राजधानी को बिजली सप्लाई करनेवाले 3 प्लांट में कोयले की कमी है। एक दिन का कोयला भी नहीं बचा है। दिल्ली सरकार के मंत्री सतेंद्र जैन ने बताया कि प्लांट में सिर्फ 20 घंटे की बिजली के लायक कोयला है और केंद्र सरकार को इसकी जानकारी दे दी गई है।ऊर्जा मंत्री सतेंद्र जैन का कहना है कि झज्जर दादरी बदरपुर पावर प्लांट में 2426 मेगावॉट दिल्ली के लिए आवंटित है। इन प्लांट में 15-20 दिन का कोयला होना चाहिए लेकिन एक दिन का कोयला भी नहीं है। इससे पहले एनटीपीसी दादरी ने तकनीकी कारणों से बंद पड़ी 490 मेगावाट की एक इकाई को रविवार को शुरू कर दिया था। ये इकाई 25 मई से बंद थी हालांकि, कोयले की कमी के कारण ये इकाई महज 60 प्रतिशत बिजली उत्पादन कर रही है।पावर प्लांट में कोयले की कमी की सबसे बड़ी वजह ट्रांसपोर्टेशन में आई कमी को बताया जा रहा है। खबरों के मुताबिक रेलवे कोयले की ढुलाई के लिए रैक और वैगन उपलब्ध नहीं करा पा रहा है।