दिल्ली विधानसभा में टीपू सुल्तान की तस्वीर लगाने पर लाल हुई बीजेपी

नई दिल्ली(27 जनवरी): दिल्ली विधानसभा के गलियारों में स्वतंत्रता सेनानियों और क्रांतिकारियों की तस्वीरों में टीपू सुल्तान की तस्वीर लगाने को लेकर विवाद हो गया है। दिल्ली के विधायकों और विधानसभा में आने वाले लोगों को देश के क्रांतिकारियों से रुबरु कराने के उद्देश्य से इन्हें लगाया गया था। 

-दिल्ली विधानसभा में गणतंत्र दिवस पर इन तस्वीरों का अनावरण किया गया, लेकिन इसको लेकर बीजेपी विधायक दिल्ली सरकार पर हमलावर हो गए।

-पिछले दिनों बीजेपी के विधायक ओपी शर्मा ने टीपू सुल्तान के चित्र को विधानसभा में लगाना जनता की भावनाओं को आहत करने वाला बताया था। ओपी शर्मा ने कहा, 'जब केजरीवाल को पता है कि ये विवादित है तो क्यों तस्वीर लगाई गई। भगत सिंह, रानी लक्ष्मीबाई के साथ लगाने वाला कद नहीं है टीपू सुल्तान का। मैं ये मामला विधानसभा में भी उठाऊंगा।'

- दिल्ली विधानसभा के स्पीकर राम निवास गोयल ने बीजेपी को हमला बोलते हुए कहा कि टीपू सुल्तान की तस्वीर लगाना गर्व की बात है, क्योंकि टीपू ने अंग्रेज़ों से जमकर लोहा लिया था और बीजेपी का विरोध उनकी संकुचित मानसिकता को दर्शाता है.

- उन्होंने संविधान के एक पेज का जिक्र किया जिसमें रानी लक्ष्मी बाई के साथ टीपू सुल्तान की तस्वीर है। तस्वीर दिखाते हुए राम निवास गोयल ने बीजेपी से पूछा कि जब संविधान बनाने वाले ने टीपू सुल्तान में कोई खोट नहीं दिखी तो फिर क्या बीजेपी संविधान बनाने वाले पर प्रश्नचिन्ह लगा रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी को संविधान की समझ नहीं, उनका काम सिर्फ लड़ाना है।