राष्ट्रपति मुर्ख्‍जी के चीन दौरे पर दिल्ली और बीजिंग की पैनी नज़र

नई दिल्ली (25 मई): दिल्ली और  बीजिंग के बीच तमाम मुद्दों पर तनातनी के बीच भारत के राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी चीन की यात्रा पर चीन के ग्वांगझू पहुच चुके हैं। उनका यह दौरा चीन-पाकिस्तान धुरी और दक्षिण चीन सागर में बने तनावपूर्ण हालात को सामान्य करना और भारत के लिए निवेश और व्यापार के नये रास्ते खोलना है। राष्ट्रपति मुखर्जी आज भारत और चीन के आर्थिक अजेंडे को बढ़ावा मिलने की उम्मीद कर रही बिजनस लीडर्स की मीटिंग को संबोधित करेंगे। मीटिंग में चीन में बिजनैस करने में दिलचस्पी रखने वाले कई इंडियन सीईओ शामिल होंगे।

राष्ट्रपति वहां यह संदेश देंगे कि इंडिया बिजनैस के लिए तैयार है और वह अपने यहां चीन की तरफ से होने वाले इन्वेस्टमेंट का स्वागत करता है। राष्ट्रपति प्रणब मुकर्जी चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग के साथ ट्रेड डेफिसिट जैसे अहम मुद्दों को उठाएंगे। बीजिंग में राष्ट्रपति प्रणब मुकर्जी की राजनीतिक बातचीत पर दोनों देशों की नजरें होंगी।ऐसा माना जाता है कि राष्ट्रपति  प्रणब मुखर्जी की सूझबूझ और अनुभव का सम्मान करता है। उनके चीन दौरे आमतौर पर अच्छे रहते हैं।