कश्मीरी नौजवानों का अलगाववादियों को तमांचा, नहीं हुए बंद में शामिल

कश्मीर (29 मई): कश्मीर के नौजवानों ने एक बार फिर से अलगाववादियों को ठेंगा दिखा दिया है। यहां के युवाओं ने एक बार फिर से आतंक के आकाओं को करारा तमाचा जड़ा है। आतंकी सबजार की मौत के बाद अलगावदियों ने घाटी में बंद का ऐलान कर रखा है, लेकिन यहां के नौजवान इसमें शामिल नहीं हो रहे हैं। रविवार को बड़ी तादाद में कश्मीर के युवा सेना की परीक्षा में शामिल होने पहुंचे।

कश्मीर के पट्टन और श्रीनगर में सेना की संयुक्त प्रवेश परीक्षा हुई। परीक्षा देने आए ये कश्मीरी युवाओं का जोश देखते ही बनता था। सेना की संयुक्त प्रवेश परीक्षा में पट्टन और श्रीनगर में 799 उम्मीदवार शामिल हुए। संयुक्त प्रवेश परीक्षा सेना में जूनियर कमिशन अधिकारी और दूसरे पदों पर चयन के लिए ली गई।

घाटी के युवाओं को समझ आ चुका है कि उन्हें काफी वक्त से गुमराह किया जा रहा है। उनके दिमाग में दुश्मनी का जहर घोला जा रहा है, लेकिन आज घाटी का युवा जाग चुका है। उसे समझ आ चुका है जो सबसे बड़ी समस्या है वो है बेरोजगारी और इसका ही खात्मा जरूरी है।

वीडियो: