‘अल्ट्रा लाइट होवित्जर’ की एकमुश्त खरीद मंजूर, 'बोफोर्स' के तीन दशक बाद पहली बार...

नई दिल्ली (25 जून): रक्षा मंत्रालय ने शनिवार को अमेरिका से 145 ‘अल्ट्रा लाइट होवित्जर्स’ की खरीद को मंजूरी दे दी। इनकी कीमत करीब 5,000 करोड़ रुपए है। ये खरीद काफी समय से लंबित थी। इसके अलावा 18 धनुष आर्टिलरी गन्स के एकमुश्त उत्पादन को भी मंजूरी दे दी। बोफोर्स स्कैंडल के बाद तीन दशकों में थलसेना की ओर से इस प्रकार की हथियार प्रणालियों की यह पहली खरीद होगी। 

रिपोर्ट के मुताबिक, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की अध्यक्षता में हुई डिफेंस एक्विज़िशन काउंसिल (डीएसी) की बैठक में आज 28,000 करोड़ रुपये की नई योजनाओं सहित 18 प्रस्तावों पर चर्चा की गई।

अनिवार्यता की स्वीकार्यर्ता (एओएन) हासिल करने वाली एक अन्य परियोजना 13,600 करोड़ की लागत से ‘‘भारतीय खरीद’’ श्रेणी के तहत अगली पीढ़ी के छह मिसाइल पोतों के निर्माण का प्रस्ताव है। इससे नौसेना को निविदाएं जारी करने की अनुमति मिलेगी।

रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘डीएसी ने अमेरिका से विदेशी सैन्य बिक्री (एफएमएस) मार्ग के जरिए 145 ‘अल्ट्रा लाइट होवित्जर्स’ की खरीद के चल रहे मामले को आगे बढ़ाने की अनुमति दे दी है। डीएसी ने ऑफसेट की स्वतंत्र प्रगति के निर्देश दिए हैं। इन बंदूकों की आपूर्ति भारत में होगी जिससे परिवहन लागत में काफी कमी लाने में मदद मिलेगी।’’