चीन की धमकी पर जेटली का करारा जवाब, कहा- 1962 और आज के भारत में बहुत फर्क

नई दिल्ली (30 जून): सिक्किम में सड़क निर्माण को लेकर भारत और चीन के बीच तनाव जारी है। सीमा पर तनाव बढ़ाने की कोशिश कर रहे चीन को भारत के रक्षामंत्री अरुण जेटली ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि चीन की नीति दूसरों की जमीन पर कब्जा करने की रही है।
 
उन्होंने कहा कि चीन जिस जमीन की बात कर रहा है उसका भारत से कोई लेना देना नहीं है। वह जमीन भूटान की है और भूटान इस संबंध में अपना जवाब दे चुका है। दरअसल, भूटान के साथ भारत का सुरक्षा समझौता है। इसलिए हमारी सेना वहां पर हैं।

उन्होंने कहा कि 1962 के हालात और अब के हालात में बहुत अंतर है। जेटली के बयान उस वक्त आया है जब चीन ने भारतीय सेना को इतिहास से सबक लेने की नजीहत दी थी।  
 
चीन द्वारा 1962 की याद दिलाए जाने के संबंध में जेटली ने कहा कि 1962 का भारत कुछ और था और 2017 का भारत कुछ और है। उनका चीन को सीधा इशारा था कि अब वह भारत को 1962 का भारत समझने की भूल नहीं करे।