'स्कॉर्पीन' पनडुब्बियों से जुड़े डेटा चोरी पर बोले रक्षामंत्री- 'चिंता की कोई बात नहीं'

नई दिल्ली (26 अगस्त): रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने भारतीय स्कॉर्पीन सबमरीन्स से जुड़े गोपनीय दस्तावेज के लीक होने की खबरों पर सफाई दी है। उन्होंने कहा कि इसमें ज्यादा चिंतित होने की बात नहीं है।

क्या है मामला 

- फ्रांसीसी सरकार के सूत्रों से गुरुवार को जानकारी मिली कि स्कॉर्पीन पनडुब्बी के दस्तावेज लीक नहीं हुए बल्कि चोरी हुए हैं। - सूत्र ने यह भी कहा कि पनडुब्बी से जुड़ी जो जानकारी अबतक प्रकाशित हुई है वह बहुत महत्वपूर्ण नहीं है। - बुधवार को 'द ऑस्ट्रेलियन' न्यूजपेपर ने फ्रांस की मदद से भारत में तैयार हो रही इन सबमरीन्स के महत्वपूर्ण डेटा के लीक होने की खबर दी थी।  - इसके बाद भारत और फ्रांस ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

क्या बोले रक्षामंत्री

- रिपोर्ट के मुताबिक, मनोहर पर्रिकर ने विश्वास जताया है कि जल्द ही चीजें सही दिशा में हो जाएंगी। - पर्रिकर ने इस मामले में चिंता नहीं करने के पीछे की वजह भी बताई है। - मनोहर पर्रिकर ने शुक्रवार को कहा कि स्कॉर्पीन सबमरीन्स का अबतक समुद्र में ट्रायल नहीं हुआ। इस वजह से अहम जानकारियां डॉक्युमेंट्स का हिस्सा नहीं हैं।  - हालांकि रक्षा मंत्री ने कहा कि नेवी को आदेश दिया गया है कि इनपु्ट्स के आधार पर इस मामले में सही दिशा में कदम उठाए जाएं। - ऐसा लीक से जुड़ी चिंताएं समाप्त हो सकेंगी। - मनोहर पर्रिकर ने कहा कि इस मामले में सबसे खराब स्थिति के बारे में सोचकर आगे बढ़ रहे हैं।  - उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि इसे लेकर ज्यादा चिंतित होने की जरूरत है। हम चीजों को सही दिशा में लाने में कामयाब होंगे।