पहली बार दुनिया को अपनी रक्षा उत्पादन क्षमता दिखाएगा भारत

नई दिल्ली ( 5 मार्च ): भारत पहली बार डिफेंस एस्सपो में विश्व पटल पर अपनी रक्षा ताकत प्रदर्शित करेगा। चेन्नई में 11 से 14 अप्रैल तक आयोजित होने वाली रक्षा प्रदर्शनी में भाग लेने के लिए 50 देशों ने अपनी मंजूरी दे दी है। इनमें भारत भी शामिल है और पहली बार डिफेंस एस्सपो में 'मेक इन इंडिया' के तहत दुनिया के सामने अपनी रक्षा उत्पादन क्षमता और सैन्य उपकरणों का बड़ा निर्यातक बनने की ताकत को प्रदर्शित करेगा। 

रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक भारत इस बार रक्षा प्रदर्शनी में देश में बने हुए हेलीकॉप्टर, विमान, मिसाइल और रॉकेट का प्रदर्शन करने के अतिरिक्त पनडुब्बी, फ्रिगेट्स, कॉर्वेट्स समेत अन्य जहाजों के निर्माण क्षमताओं का भी प्रदर्शन करेगा। दरअसल, भारत रक्षा उपकरणों के मामले में सबसे बड़ा खरीददार है। और भारत सरकार विदेशी खरीद पर निर्भरता कम करने के लिए घरेलू रक्षा उद्योग को बढ़ावा देना चाहती है।

उल्लेखनीय है कि आगामी डिफेंस एक्सपो में भारत अपने रक्षा उपकरणों से बाहरी देशों को लुभाने का प्रयास करेगा। जिससे कि देश में रक्षा उपकरणों में मेक इन इंडिया की झलक देखने को मिलेगी। चेन्नई 11 से 14 अप्रैल तक चलने वाली रक्षा प्रदर्शनी में विश्व के 50 देश हिस्सा लेंगे।