खुलकर भारत के समर्थन में आया यूएस, देगा लड़ाकू विमान

वॉशिंगटन (7 सितंबर): आतंकवाद के मुद्दे पर अमेरिका को एक बार फिर भारत का साथ मिला है। दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की कार्यवाहक सहायक और उप विदेश मंत्री ऐलिस वेल्ज ने आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए भारत की मदद करने की बात भी कही है।

इसी के साथ उन्होंने भारत को दिए जाने वाले F-18 और F-16 लड़ाकू विमान भारत को देने का भी समर्थन किया। उन्होंने कहा कि इन प्रस्तावों में भारत-अमेरिकी रक्षा संबंधों को अगले स्तर पर ले जाने की क्षमता है। उन्होंने लिखित बयान में कांग्रेस की उपसमिति को बताया, 'भारत के साथ रक्षा सहयोग द्विपक्षीय संबंधों के लिए एक महत्वपूर्ण स्तंभ साबित होगा, और अमेरिका चाहता है कि भारत-प्रशांत क्षेत्र में भारत वास्तविक सुरक्षा प्रदाता बने।'

वेल्ज ने जोर देते हुए कहा कि लोकतांत्रिक देश होने के नाते भारत और अमेरिका दोनों की अहम प्राथमिकता आतंकवाद से मुकाबला करना है। विदेश विभाग के आतंकरोधी सहायता कार्यक्रम (एटीए) के तहत साल 2009 से अब तक 1100 से अधिक भारतीय सुरक्षाकर्मियों को ट्रेनिंग दी गई है। उन्होंने कहा, 'भारत खतरनाक पड़ोसियों के बीच है, जहां आतंकी हमलों में भारतीय और अमेरिकी दोनों ही मारे जा रहे हैं। अपने आतंकरोधी सहयोग के विस्तार के लिए संयुक्त प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण जरूरी हैं।'