हार से परेशान वर्ल्ड चैंपियन के कप्तान ने की टीम इंडिया की तारीफ

ढाका(3 मार्च): एशिया कप में श्रीलंकाई टीम की कप्तानी कर रहे ऑलराउंडर एंजेलो मैथ्यूज ने कहा कि लगातार हार से टी20 विश्व कप से पहले उनकी टीम का मनोबल गिर रहा है। मैथ्यूज ने कहा ,‘‘इससे काफी नुकसान हो रहा है, खासकर टीम के आत्मविश्वास और मनोबल पर। आप लगातार हार नहीं सकते। यह पचाना मुश्किल है। हमने अभी तक अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं किया है और बल्लेबाजी क्रम के रूप में नाकाम रहे हैं। टी20 विश्व कप इतना करीब है और अब हमें जल्दी ही अपनी गलतियों से सबक लेना होगा।

वहीं खराब फॉर्म में चल रहे ओपनर तिलकरत्ने दिलशान के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि हर किसी के कैरियर में खराब दौर आता है और उसका (दिलशान) यहां खराब दौर चल रहा है। हम सभी को जिम्मेदारी लेनी होगी, सिर्फ सीनियर्स को नहीं। चयनकर्ताओं और कप्तान ने एक टीम चुनी है जो उन्हें पसंद है। हमें उपलब्ध टीम से ही सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है। उन्हीं पर विश्वास करके आगे बढना होगा।

उन्होंने कहा कि टी20 में भारत की सफलता की कुंजी सही खिलाड़ियों का चयन और उनके साथ विजयी संयोजन बनाना होगा। उन्होंने कहा कि भारत ने पिछले कुछ समय में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने उसी टीम को बरकरार रखा है जो विश्व कप खेलेगी। यही आपको करना होता है। एक टीम पर भरोसा करके संयम से काम लेना जरूरी है। ज्यादा बदलाव की जरूरत नहीं होती।

मैथ्यूज ने हालांकि कहा कि इतने ज्यादा मैच हारने के लिये बदलाव के दौर को बहाना नहीं बनाया जा सकता। उन्होंने कहा कि मैं रोज कहता हूं कि हम अधिकांश समय चुनिंदा सीनियर्स पर निर्भर रहते हैं। उनके नाकाम रहने पर टीम को खामियाजा भुगतना पड़ता है. एशिया कप और विश्व कप जैसे टूर्नामेंटों में आपको टीम में कई सीनियर्स की जरूरत होती है लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे। उन्होंने कहा कि युवा खिलाड़ियों को अच्छा प्रदर्शन करने में थोड़ा समय लगेगा। हमें संयम से काम लेना होगा लेकिन विडंबना यह है कि यह संयम से काम लेने का सही समय नहीं है।