पटना के गांधी मैदान में 'दीन बचाओ-देश बचाओ' रैली में जुटे लाखों मुसलमान

नई दिल्ली ( 15 अप्रैल ): केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ पटना के गांधी मैदान में रविवार को कई मुस्लिम संगठन 'दीन(धर्म) बचाओ देश बचाओ' रैली है। इसको संगठन इमारत शरीआ, फुलवारी शरीफ पटना आयोजित करा रहा है। कान्फ्रेंस 15 अप्रैल को पटना के गांधी मैदान में दोपहर एक बजे से शुरू होकर शाम पांच बजे तक चलेगी। 

रविवार को गांधी मैदान में इस रैली में लाखों मुसलमान पहुंचे। सम्‍मेलन का उद्देश्य हिन्दू-मुस्लिम सौहार्द और भाईचारे के खिलाफ खड़ी ताकतों के खिलाफ लोगों को सचेत करना है। सम्‍मेलन के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। इसमें जन-सैलाब उमड़ पड़ा है। 

कार्यक्रम में मौलाना अबु तालीम रहमानी ने कहा जब डोकलाम से लेकर किसी दूसरे बॉर्डर पर फौज को नौजवानों की दरकार लगे, सरकार सिर्फ एक बार हमसे कहे। हम अपने बच्चों को मदरसों से निकाल कफन पहनकर फौज के सुपुर्द कर देंगे। भारत के मुसलमान भूखे रह सकते हैं, लेकिन देश का सौदा कभी नही कर सकते। हम देश को भी बचाएंगे और जरूरत पड़ी तो पाकिस्तान को भी ठोक देंगे। हमारी एक रिजर्व फोर्स घर में है। वो हमारी औरते हैं। जरूरत पड़ी तो वे भी उठ खड़ी होंगी। इमारत शरिया के नाजिम अनीसुर रहमान कासमी ने बताया कि यह गैर राजनीतिक कार्यक्रम है। उन्होंने आग्रह किया कि इसे राजनीति से जोड़कर न देखा जाए।

कार्यक्रम का उद्घाटन अमीर-ए- शरीयत मौलाना मोहम्मद वली रहमानी ने किया। कार्यक्रम का उद्देश्य हिन्दू-मुस्लिम सौहार्द और भाईचारे के खिलाफ खड़ी ताकतों के खिलाफ लोगों को सचेत करना है। इमारत शरिया के नाजिम अनीसुर रहमान कासमी ने कहा कि यह एक गैर राजनीतिक कार्यक्रम है और आग्रह किया कि इसे राजनीति से जोड़कर न देखा जाए।

बोर्ड के महासचिव मौलाना वली रहमानी ने कहा कि  'हमने चार साल इंतजार किया और सोचा कि बीजेपी संविधान के तहत देश चलाना सीख लेगी। उन्होंने आगे कहा कि मुसलमानों के पर्सनल लॉ पर हमला किया जा रहा है। हमें अपने लोगों और देशवासियों को बताना पड़ रहा है कि देश के साथ-साथ इस्लाम पर भी खतरा है।'