न्यूज 24 की खबर का असर, क्रीमी लेयर के मुद्दे पर विपक्ष ने सरकार को घेरा

नई दिल्ली (27 जुलाई): राज्यसभा में न्यूज 24 की खबर पर एक बार फिर सरकार पर सवालों की बौछार हुई है। ओबीसी आरक्षण में क्रीमी लेयर के मुद्दे पर विपक्षी दलों ने एक बार फिर सरकार को घेरा है। न्यूज 24 ने खबर दिखाई थी कि क्रीमीलेयर के नाम पर सिविल सर्विस के 33 छात्रों को आईएएस आईपीएस कैडर नहीं मिला था।

हंगामे के बाद बीजेपी सांसद मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सरकार नियम में कोई बदलाव नहीं कर रही है और न ही आगे किसी प्रकार के बदलाव की योजना है। बता दें कि लोकसभा में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने एक दिन पहले हि बयान दिया था कि ओबीसी आरक्षण में क्रीमी लेयर का नियम नहीं बदला गया है। आरक्षण पर इसका असर नहीं होगा। राजनाथ सिंह ने कहा कि पिछड़े वर्ग को कोई नुकसान नहीं होगा और कुछ गड़बडी हुई हो तो जांच होगी।

वहीं इस पूरे मुद्दे को समाजवादी पार्टी के धर्मेंद यादव ने संसद में जोऱ-शोर से उठाया। आपको बता दें न्यूज 24 ने 4 दिन पहले खबर दिखाई थी कि इस साल यूपीएससी की परीक्षा पास कर चुके 314 ओबीसी कैटेगरी के कैंडिडेट्स में से 33 से ज्यादा ऐसे लोग हैं जिन्हें सरकार ने ओबीसी कैटेगरी का आरक्षण देने से मना कर दिया। इसके पीछे वजह बताई गई कि सरकार ने ओबीसी आरक्षण में क्रीमी लेयर का नियम बदल डाला है।

नये नियम के मुताबिक ये 33 कैंडिडेट्स वैसे ओबीसी कैटेगरी से आते हैं जिनके माता पिता की वेतन और खेती समेत कुल आमदनी 6 लाख से ज्यादा है। ये कैंडिडेट ऐसे माता पिता के बच्चे हैं जो या तो बैंक में या किसी पीएसयू में या म्यूनिसपैलिटी या कॉरपोरेशन जैसे संस्थान में काम करते हैं।