नाबालिग दोस्त का किडनैप कर किया कत्ल

मोहम्मद जावेद, ग्वालियर (7 जुलाई): ग्वालियर में 8 दिन पहले एक मासूम का कत्ल कर दिया गया था। इस कत्ल के सबसे बड़े सबूत की तलाश में पुलिस ने जमीन के 50 फीट नीचे कोना-कोना छान मारा। 36 घंटे के सर्च ऑपरेशन के बाद जो सामने आया उसे देख कर सबका दिल दहल गया।

ग्वालियर में बच्चे के लापता होने के बाद जैसे सारा शहर बेचैन था। मासूम के परिवारवालों ने भी शहर के हर कोने में इन बच्चे की तलाश की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। इसी बीच किडनैपर्स के एक फोन कॉल ने घर वालों को चौका दिया। किडनैपर्स ने इस मासूम के घरवालों को फोन कर 10 लाख रुपए फिरौती की मांग की थी।

इधर मासूम की तलाश में जुटी पुलिस को भनक लगी की किडनैपर्स ने बच्चे का कत्ल कर दिया है। इसके बाद शुरू हुई बच्चे की लाश की तलाश। प्रशासन ने शहर के नालों और गटर में इस मासूम की तलाश शुरू हुई। लेकिन जाल की तरफ फैले गटर में बच्चे की लाश को तलाशना आसान नहीं था। पुलिस के साथ नगर निगम के करीब 300 कर्मचारी भी इस तलाश मे नाकाम रहे। इसके बाद मशीन से गटर को तोड़ने का फैसला किया गया। तब जाकर इस मासूम की लाश को बरामद किया जा सका।

पुलिस के मुताबिक आठवी क्लास में पढ़ने वाले बच्चे का उसके ही 4 नाबालिग दोस्तों ने अपहरण कर लिया था। किडनैपर्स को उम्मीद थी कि केबल ऑपरेटर का काम करने वाले इस मासूम के परिवारवालों से ये रकम आसानी से वसूली जा सकेगी, लेकिन पुलिस के मुताबिक अपहरणकर्ताओं ने किडनैपिंग के फौरन बाद मासूम का कत्लकर दिया था और उसकी लाश को गटर में फेंक दिया था। इस मामले में सबसे हैरानी की बात है कि मासूम का कत्ल करने वाले उसके ही नाबालिग दोस्त थे।

वीडियो: [embed]https://www.youtube.com/watch?v=9T5mkiIrwPg[/embed]