DDA की नई हाउसिंग स्कीम फिर हुई लेट, नहीं बढ़ेगी सरेंडर किए फ्लैट्स की कीमतें

नई दिल्ली (27 मई): डीडीए की नई हाउसिंग स्कीम एक बार फिर लेट हो गई है। यह स्कीम मार्च के बाद मई में आने वाली थी। अब जानकारी मिल रही है कि अब यह स्कीम जुलाई या अगस्त में आ सकती है। फिलहाल अभी तारीख तय नहीं हो पाई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, स्कीम के लेट होने का कारण है कि फ्लैटों की डीटेल लेना बाकी है। जो कि हाउसिंग स्कीम 2014 से भी काफी पुराने हैं। उन्हें इस बार नई स्कीम में शामिल किया जा रहा है। 

डीडीए अधिकारियों का कहना है कि उम्मीद है कि नई हाउसिंग स्कीम 2016 में करीब 10 हजार फ्लैट 2014 की स्कीम के भी शामिल किए जाएंगे। वे पुरानी कीमतों पर ही ऑफर किए जाएंगे। इसका मतलब है कि सरेंडर किए गए फ्लैटों की कीमत बढ़ने के आसार बेहद कम हैं। अधिकारी इसरी वजह प्रॉपर्टी मार्केट में मंदी बता रहे हैं।

पिछली बार जब साल 2014 में हाउसिंग स्कीम लॉन्च की गई थी, तो उस वक्त नरेला और रोहिणी में बड़ी संख्या में लोगों ने फ्लैटों को सरेंडर किया था। इसका कारण फ्लैटों का साइज़ छोटा होना और इनका शहर से काफी दूर होना बताया गया था। फ्लैटों को सरेंडर करने वालों का कहना था कि फ्लैट तो छोटे हैं ही, पब्लिक ट्रांसपोर्ट के साधन भी नहीं हैं। ऐसे में इन फ्लैट्स में रहने में खासी मुश्किल हो सकती है।

अब डीडीए अपनी नई हाउसिंग स्कीम में इन 10 हजार से अधिक सरेंडर किए गए फ्लैटों को भी शामिल कर रहा है।

डीडीए का कहना है कि वैसे को दो साल बाद इनकी कीमतों में कम से कम 10 फीसदी का इज़ाफा हो जाना चाहिए, लेकिन कोशिश की जा रही है कि इनकी कीमतें पुराने स्तर पर ही रखी जाएं, जिससे लोग इन्हें खरीद सकें।

नई हाउसिंग स्कीम में हर कैटेगरी के फ्लैट रखे गए हैं। इनमें से अधिकतर नरेला, रोहिणी और द्वारका में होंगे।