जानिए कौन हैं ये बोहरा समुदाय के लोग, जो खुद को बाकी मुस्लिमों से अलग मानते हैं

न्यूज 24 ब्यूरो, भोपाल (14 सितंबर ):  पीएम मोदी शुक्रवार यानी आज मध्य प्रदेश के इंदौर में बोहरा समुदाय के प्रवचन में हिस्सा लेने पहुंचे हैं। बोहरा समाज के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, जब कोई पीएम उनके धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर ये बोहरा कौन लोग हैं। चलिए अब आपको बोहरा समाज के बारे में सिलसिले बार तरीके से बताते हैं।  

मुस्लिमों को मुख्य रूप से दो हिस्सों में बांटा जाता है। मगर शिया और सुन्नियों के अलावा इस्लाम को मानने वाले लोग 72 फिरकों में बंटे हुए हैं। इन्हीं में से एक हैं बोहरा मुस्लिम। बोहरा शिया और सुन्नी दोनों होते हैं। सुन्नी बोहरा हनफी इस्लामिक कानून को मानते हैं। वहीं दाऊदी बोहरा मान्यताओं में शियाओं के करीब होते हैं।  
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बोहरा समुदाय की भारत में लाखों की तादात में रहते हैं। ये खुद को कई मामलों में देश के बाकी मुस्लिमों से अलग मानते हैं। दाऊदी बोहरा समुदाय की पहचान काफी समृद्ध, संभ्रांत और पढ़ा-लिखे समुदाय के तौर पर होती है। बोहरा समुदाय के ज्यादातर लोग व्यापारी हैं।  

गौरतलब है कि दाऊदी बोहरा मुख्यत: गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश में बसते हैं। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के अलावा ब्रिटेन, अमेरिका, दुबई, ईराक, यमन व सऊदी अरब में भी उनकी अच्छी तादाद है। मुंबई में इनका पहला आगमन करीब ढाई सौ वर्ष पहले हुआ।